Advertisements

Lockdown 4.0: अगर जाना चाहते हैं एक राज्‍य से दूसरी जगह, इस तरह बिना रुकावट जाएं

नई दिल्ली: कोरोना वायरस (coronavirus) की वजह से एक बार फिर लॉकडाउन (Lockdown) को पूरे देश में बढ़ा दिया गया है, लेकिन लॉकडाउन 4.0 में लोगों को कुछ सुविधाएं भी दी गई हैं. अगर आप लॉकडाउन की अवधि में एक राज्य से दूसरे राज्य में जाते हैं, तो आपको ई-पास की जरूरत पड़ेगी. ई-पास हासिल करने के लिए आपको राज्य सरकारों द्वारा डेवलप की गई वेबसाइट्स पर जाना होगा. आइए जानते हैं कैसे आप ई-पास हासिल कर सकते हैं:

-ई-पास के लिए केंद्र सरकार के  सिंगल प्वाइंट एक्सेस वेबसाइट http://serviceonline.gov.in/epass/ पर विजिट करना होगा. यहां पर आप ई-पास के लिए रिक्वेस्ट डाल सकते हैं. इस वेबसाइट को नेशनल इंफॉर्मेटिक्स सेंटर (एनआईसी) ने डेवलप किया है.

-इस वेबसाइट से फिलहाल 17 राज्यों के लिए ई-परमिट हासिल किए जा सकते हैं. http://serviceonline.gov.in/epass/ पर जाने के बाद यह आपको राज्य सरकारों की सही वेबसाइट पर रीडायरेक्ट कर देता है. इससे आपके लिए सही वेबसाइट पर पहुंचना आसान हो जाता है.

मान लीजिए, अगर आप नोएडा के लिए ई-पास चाहते हैं, तो आपको पहले साइट पर ‘सेलेक्ट स्टेट टू अप्लाई ई-पास’ वाले सेक्शन पर जाना होगा. यहां पर ड्रॉप डाउन ऐरो है. इस पर क्लिक करने के बाद उत्तर प्रदेश को सेलेक्टर करना होगा. फिर यहां पर आपको उत्तर प्रदेश के ई-पास वेबसाइट की हायपरलिंक दिखाई देगी.

ये भी पढ़ें- दुनिया के आगे झुकने पर मजबूर हुआ चीन, शी जिनपिंग ने कहा- कोरोना जांच में करेंगे सहयोग

-यहां पर यूजर को ओटीपी के जरिए फोन नंबर को वेरिफाई करना पड़ेगा. फिर सभी जरूरी डॉक्यूमेंट्स को अपलोड करना होगा.

-सभी डिटेल को सबमिट करने के बाद संबंधित डिपार्टमेंट आपके एप्लीकेशन को रिव्यू करेगा. इसके बाद वे तय करेंगे कि ई-पास जारी किया जाए या नहीं. अगर ई-पास जारी हो जाता है, तो आपको इसके संबंध में एसएमएस प्राप्त होगा, जिसमें लिंक भी होता है, जहां से ई-पास को डाउनलोड कर सकते हैं. यह ई-पास सिक्योरिटी पर्सन को दिखाकर दूसरे राज्यों में जा सकते हैं. अगर ई-पास जारी हो गया है, तो यह आपको ‘आरोग्य सेतु एप’ में भी दिखाई देगा.

-अगर ई-पास जारी नहीं हुआ है, तो एप्लीकेशन को ‘ट्रैक योर एप्लीकेशन’ सेक्शन में जाकर उसे ट्रैक भी कर सकते हैं. खबर लिखे जाने तक 3357200 एप्लीकेशंस रिसिव्ड हुए हैं और 1169761 ई-पास जारी किए जा चुके हैं, जबकि 999356 एप्लीकेशंस अंडर प्रॉसेस है और 1188083 ई-पास रिजेक्ट किए जा चुके हैं. 

ये भी देखें:

[source_ZEE NEWS]