Advertisements

DNA ANALYSIS: खेल से जुड़े मुद्दों पर केंद्रीय खेल मंत्री किरण रिजिजू ने ZEE NEWS से की खास बातचीत

नई दिल्ली: कोरोना वायरस का असर केवल भारत की अर्थव्यवस्था पर ही नहीं बल्कि युवाओं के भविष्य और खेलों पर भी पड़ा है. इस मुद्दे पर भारत के केंद्रीय खेल व युवा मामलों के मंत्री किरण रिजिजू ने ZEE NEWS से खास बातचीत की. 

ZEE NEWS ने किरण रिजिजू से कई महत्वपूर्ण सवाल पूछे, जिनका जवाब आप डीएनए के वीडियो में सुन सकते हैं. हमने रिजिजू से पूछा कि ओलंपिक एक साल के लिए टाले गए हैं जो कि अपने आप में एक बेहद ही मुश्किल हालातों में लिया गया फैसला था. वर्ल्ड वॉर के अलावा ओलंपिक कभी भी प्रभावित नहीं हुए थे. अब ऐसे हालातों में खिलाड़ियों के दिमाग में दोबारा से ट्रेनिंग शुरु करने को लेकर कई सवाल होंगे. आपका क्या प्लान है कि कैसे अगले साल होने वाले ओलंपिक के लिए फिर से तैयारी शुरु की जाए?

देखें DNA-

हमने रिजिजू से पूछा कि हमने पहले भी देखा है कि जो देश के टॉप एथलीट होते हैं उन्हें मंत्रालय विदेशों में ट्रेनिंग के लिए भेजता है. ऐसा इस बार संभव नहीं हो पा रहा, जैसे कि हालात हैं तो क्या मंत्रालय वैसी सुविधाएं यहां तैयार करने की कोशिश में है. 

हमने पूछा कि आपने स्टेडियम खोलने की अनुमति दे दी है, तो क्या इससे अब IPL का भी रास्ता साफ हो जाएगा. बिना विदेशी खिलाड़ी आईपीएल का होना आपको कहां तक लगता है कि संभव है. 

हमने पूछा कि कई खेल ऐसे हैं जिसमें सोशल डिस्टेंसिंग रखना नामुमकिन है जैसे बॉक्सिंग, रेसलिंग, कबड्डी, फुटबॉल. क्या इन खेलों की भी ट्रेनिंग शुरु हो पाएगी. 

हमने पूछा कि कोरोना वायरस ने खेल की दुनिया का कितना नुकसान किया है? क्या आपको लगता है कि कभी फिर वो दौर वापिस आ पाएगा जब हजारों, लाखों आवाजें एक साथ स्टेडियम में गूंजा करती थी या फिर खिलाड़ियों को भी ये मान लेना चाहिए कि अब खेल की दुनिया में दर्शक सिर्फ टीवी पर ही होंगे, स्टेडियम में नहीं. 

हमने रिजिजू से पूछा कि क्या स्टेडियम में भी और स्पोर्ट्स अथॉरिटी के ट्रेनिंग सेंटर्स के लिए भी कई गाइडलाइंस बनाई गई हैं. रिजिजू ने इन सारे सवालों का जवाब दिया, जिसे आप डीएनए के वीडियो में सुन सकते हैं. 

[source_ZEE NEWS]