Corona काल में मोदी सरकार के इस मिशन ने किया कमाल, हजारों भारतीयों को अपनों से मिलवाया

नई दिल्ली: कोरोना (Coronavirus) काल में मोदी सरकार का वंदे भारत मिशन (Vande Bharat Mission) विदेश में रह रहे भारतीयों के लिए वरदान साबित हुआ है. इस मिशन के तहत हजारों भारतीय अपने वतन लौटे हैं. 17 मई से शुरू हुआ मिशन वंदे भारत लगातार 13 जून तक चलेगा. दूसरे चरण के तहत एयर इंडिया ने अभी तक 103 फ्लाइट ऑपरेट की हैं. श्रीलंका और मालदीव से भारतीयों को वापस लाने के लिए नेवी ने भी मदद की है. 7 मई से वंदे भारत मिशन की शुरुआत से लेकर अभी तक 454 कुल फ्लाइट ऑपरेट हो चुकी हैं.

आज की तारीख में 107123 भारतीय विदेशों से भारत वापस आ चुके हैं. इनमें 17450 माइग्रेंट वर्कर, 11511 स्टूडेंट और साथ ही 8633 प्रोफेशनल शामिल हैं.

इसके अलावा 32,000 भारतीय लैंड बॉर्डर इमीग्रेशन चेक प्वाइंट के जरिए नेपाल, भूटान, बांग्लादेश जैसे देशों से भारत वापस आए हैं. दुनियाभर से भारत वापस आने के लिए अभी तक कुल 348565 भारतीयों ने अपना रजिस्ट्रेशन कराया है. 

ये भी पढ़ें- दिल्ली में लगातार बढ़ रही कोरोना मरीजों की संख्या, सरकार ने लिया ये बड़ा फैसला

इसके साथ ही गृह मंत्रालय की गाइडलाइन के मुताबिक 24 मई से गैर निर्धारित कमर्शियल फ्लाइट को भी मंजूरी दी गई है. जिससे चार्टर्ड फ्लाइट और एयर एंबुलेंस को लाने में मदद मिली है. 

तीसरे चरण के लिए वंदे भारत मिशन का पहले से ही अनाउंसमेंट हो चुका है और इसके लिए फ्लाइट की लिस्ट भी वेबसाइट पर अवेलेबल है. तीसरे चरण में दुनिया के और कई देश कवर किए जाएंगे जिसमें लगभग 38000 भारतीयों को वापस स्वदेश लाया जाएगा. 

ये भी पढ़ें- 5 जून से शुरू होगी Air India की इंटरनेशनल बुकिंग, विदेश जाने के लिए कर सकते हैं प्लान

इसके तहत 337 इंटरनेशनल उड़ाने 31 देशों से उड़ान भरेंगी. जिसमें 54 उड़ानें अमेरिका से, 24 कनाडा से, 6 अफ्रीकी देशों जिसमें नाइजीरिया, इजिप्ट, साउथ अफ्रीका, केन्या, 6 सिसेल्स और मॉरीशस शामिल हैं.

विदेश मंत्रालय के मुताबिक कोविड 19 कंट्रोल रूम चौबीस घंटे काम कर रहा है. 16 मार्च से ही कंट्रोल रूम को अभी तक 25000 से ज्यादा कॉल प्राप्त हुए हैं. इसके साथ ही 4 जून तक 66000 ईमेल भी मिले हैं. इस कंट्रोल रूम से अभी तक 9100 से ज्यादा सवालों के जवाब या जानकारी दी जा चुकी है.

[source_ZEE NEWS]
%d bloggers like this: