25 मई से टेकऑफ के लिए तैयार है ये एयरलाइन, यात्रियों के लिए आरोग्य सेतु ऐप अनिवार्य

नई दिल्ली: कोरोना संकट (Coronavirus) के चलते करीब दो महीने तक संचालन बंद रखने वाली स्पाइसजेट (SpiceJet) फिर से टेकऑफ के लिए तैयार है. कंपनी 25 मई से घरेलू उड़ानें शुरू करने जा रही है. फिलहाल 41 डोमेस्टिक डेस्टिनेशन के लिए हर रोज 204 और सप्ताह में कुल 1413 फ्लाइट्स के संचालन का फैसला लिया गया है. कोरोना के प्रकोप को देखते हुए स्पाइसजेट ने यात्रियों की सुरक्षा को लेकर कुछ कदम उठाए हैं.  

स्पाइसजेट में सफर करने वालों को मास्क पहनने के साथ ही आरोग्य सेतु ऐप (Aarogya Setu App) डाउनलोड करना भी अनिवार्य किया गया है. एयरलाइन का कहना है कि वह यात्रियों और कर्मचारियों के साथ न्यूनतम संपर्क बनाए रखते हुए उन्हें उच्च स्तरीय सुरक्षा अनुभव प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध है. स्पाइसजेट सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों और सरकार द्वारा निर्धारित मानक संचालन प्रक्रियाओं (SOP) का सख्ती से पालन करेगी.

स्पाइसजेट ने बताया कि उसने मानवीय संपर्क को कम से कम करने और सुरक्षित यात्रा सुनिश्चित करने के लिए ग्लोबल बेस्ट प्रैक्टिस और सरकारी SOP के अनुरूप इन-फ्लाइट और ऑन-ग्राउंड संशोधन करने का फैसला लिया गया है. स्पाइसजेट के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक अजय सिंह ने कहा, ‘दो महीने के बाद यात्री परिचालन को फिर से शुरू करने की घोषणा करते हुए मुझे खुशी हो रही है. आपकी पसंदीदा एयरलाइन अपने पंखों को फिर से फैलाने के लिए तैयार है और आपको सुरक्षित रूप से आपके गंतव्य तक पहुंचाएगी. हम अपने यात्रियों और कर्मचारियों को उच्चतम स्तर की स्वच्छता और एक सुरक्षित, स्वस्थ अनुभव प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध हैं. हम सरकार द्वारा निर्धारित मानदंडों का पालन करेंगे’.

एयरलाइन के मुताबिक, प्रत्येक उड़ान से पहले विमानों को अच्छी तरह से सैनेटाइज किया जाएगा. जिसमें कस्टमर टच पॉइंट भी शामिल हैं. इसके अलावा, विमानों में सिथेंटिक लेदर सीट लगाईं गई हैं. क्योंकि छिद्ररहित (non-porous) सीटों में वायरस अंदर प्रवेश नहीं कर पाता और सामान्य सीटों की तुलना में इन्हें आसानी से साफ किया जा सकता है. साथ ही यह भी व्यवस्था की गई है कि विमान में ताज़ी और स्वच्छ हवा की उपलब्धता बनी रहे. कंपनी का कहना है कि सभी विमानों में उच्च-दक्षता (HEPA) फिल्टर (जैसे अस्पतालों में पाए जाते हैं) हैं, जो 99.9+% हवाजनित कणों जैसे वायरस और बैक्टीरिया को हटाते हैं.

स्पाइसजेट के अनुसार, सभी क्रू मेंबर्स और ग्राउंड सर्विसेज के कर्मियों को एक विस्तृत स्वास्थ्य जांच से गुजरना होगा और एक सुरक्षित यात्रा अनुभव प्रदान करने के लिए प्रोटेक्टिव गियर पहनना होगा. एहतियात के तौर पर कंपनी ने सभी विमानों में खाने-पीने की सुविधा को फिलहाल बंद कर दिया है. यात्रियों को विमान में सवार होने के बाद कुछ भी खाने की इजाजत नहीं होगी. सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने के लिए कंपनी अपने एयरपोर्ट कोच में यात्रियों की संख्या को 50% करेगी. हवाई अड्डों पर कतारों से बचने के लिए वेब चेक-इन अनिवार्य कर दिया गया है. इसके अलावा, यात्रियों को केवल एक हैंड बैगेज और एक चेक-इन बैगेज (20 किलो से अधिक नहीं) की अनुमति होगी, जिसे वेब चेक-इन प्रक्रिया के दौरान बताना होगा.    

ये भी देखें:

 

[source_ZEE NEWS]
%d bloggers like this: