सीएंडवी कैडर से मास्टर कैडर के कोटे को तर्क संगत ढंग से बढ़ा प्रमोशन करने की मांग

दैनिक भास्कर

Jun 01, 2020, 08:21 AM IST

गुरदासपुर. पंजाब के सरकारी स्कूलों में सेकेंडरी विभाग अधीन सेवा निभा रहे शिक्षकों की प्रोमोशनों के कोटे को सीमित करने और सीएंडवी शिक्षकों की मास्टर केडर में प्रोमोशनों की देरी संबंधी अध्यापक वर्ग ने निराशा जाहिर की। डेमोक्रेटिक टीचर्स फ्रंट पंजाब के जिलाध्यक्ष हरजिंदर सिंह वडाला बांगर व जिला सचिव अमरजीत सिंह मनी ने कहा कि विभाग की गलत नीतियों के कारण अलग-अलग कैडरों के शिक्षक/मास्टर तरक्कियों की राह देखते-देखते सेवामुक्त हो रहे हैं।

मास्टर केडर से प्रिंसिपलों की प्रोमोशनों संबंधी नेताओं ने बताया कि पिछले समय में बहुत ही थोड़ी संख्या में मास्टरों को प्रमोशन देकर मुख्य अध्यापक बनाया गया है। इसका मुख्य कारण पिछले कुछ वर्षों में मास्टर कैडर से मुख्य अध्यापकों की तरक्की के लिए तय किए गए कोटे में तब्दीली कर इसको 50% तक सीमित कर दिया गया है। जबकि पहले प्रमोशन के जरिए 75% और सीधी भर्ती के जरिए 25% मुख्य अध्यापक आते थे।

शिक्षा अधिकारियों द्वारा विभिन्न कैडरों के हितों को अनदेखी करते हुए सीधी भर्ती को पहल देने और तरक्की कोटे को खोरा लगाने में कोई कसर नहीं छोड़ी गई। इस कारण दो-तीन दशकों तक अपने कैडर में सेवा निभाने वाले और सारी उम्र तरक्की की आस में रहे शिक्षक उसी कैडर में सेवामुक्त हो रहे हैं।

नेताओं ने मांग की कि सीएंडवी कैडर से मास्टर कैडर के कोटे को तर्क संगत ढंग से बढ़ाया जाए और इनकी प्रमोशनें तुरंत की जाए। इस मौके पर उपकार सिंह, डॉ. सतिंदर सिंह, गुरदयाल चंद, वरगिस सलामत, जमीत राज, हरदीप राज, बलविंदर कौर, अमरजीत सिंह कोठ, दविंदर सिहं के अलावा डेमोक्रेटिक मुलाजिम फेडरेशन प्रदेश नेता अमरजीत शास्त्री भी मौजूद थे। 

Source BHASKAR

%d bloggers like this: