वर्चस्व की लड़ाई में युवक पर हमला, साथ घायल हुए बेकसूर दोस्त की जान गई

  • गगनदीप सिंह के खिलाफ 2017 में बबलू नामक एक युवक पर हमले के आरोप में आपराधिक मामला दर्ज हुआ था
  • बबलू के भाई सोनू कांचा ने सोमवार को गगनदीप पर किया साथियाें के साथ मिलकर धारदार हथियारों से हमला
  • साथ मौजूद बुलारा गांव के निवासी दोस्त रमनदीप को भी आई थी चोटें, चार दिन अस्पताल में भर्ती रहने के बाद तोड़ा दम

दैनिक भास्कर

Jun 04, 2020, 02:10 PM IST

लुधियाना. लुधियाना में बदले की आग में एक बेकसूर की हत्या का मामला सामने आया है। बताया जाता है कि नशा तस्करी के धंधे में वर्चस्व की लड़ाई में एक युवक पर हमला किया गया था, जिस दौरान वह और उसका एक साथी घायल हो गए। चार दिन अस्पताल में भर्ती रहने के बाद बेकसूर साथी बुधवार देर रात जिंदगी की जंग हार गया। दूसरी ओर हमले का लक्ष्य युवक ईएसआइ अस्पताल में उपचाराधीन है। इस पर बदमाशों ने बेरहमी से वार करते उसके हाथ की अंगुली तक काट दी। बहरहाल, पुलिस इस मामले में हत्या की धारा जोड़कर जांच और तेज कर चुकी है।
मृतक की शिनाख्त रमनजीत सिंह गांव बुलारा के तौर पर हुई है, जबकि उसके साथी (हमले का मुख्य लक्ष्य) गगनदीप सिंह जुझार नगर का रहने वाला है। मिली जानकारी के अनुसार शिमलापुरी में शराब और नशा तस्करी में अपना वर्चस्व कायम करने के लिए कई ग्रुप सक्रिय हैं। इन्हीं में से एक बॉक्सर ग्रुप के साथ सक्रिय रहने गगनदीप सिंह ने 2017 में सोनू कांचा के भाई बबलू पर हमला किया था और इसे लेकर उस पर 307 का आपराधिक मामला दर्ज हुआ था। वह डेढ़ साल पहले ही जेल से छूटकर आया था और पांच माह पहले उसने शादी की थी। अब वह मारपीट से दूर था, मगर बबलू का भाई सोनू कांचा इसकी रंजिश रखता था और इसलिए ही उसने गगनदीप पर हमला किया था। इसी दौरान उसके साथ रमनजीत सिंह भी था।
गगनदीप सिंह ने बताया कि वह सोमवार को अपने दोस्त रमनदीप सिंह के साथ पल्सर मोटरसाइकल पर जा रहा था। अचानक उसे उसके एक अन्य दोस्त रमनी का फोन आया कि वह भी उनके साथ जाना चाहता है। गगनदीप ने उसे बताया कि वह क्वालिटी चौक पर उसका इंतजार कर रहा है। कुछ ही देर में उनके पास आकर एक गाड़ी रुकी, जिसमें रमनी के साथ सोनू कांचा व सोनू कुमार मौजूद थे। करीब 15 अन्य युवक मोटरसाइकलों पर सवार होकर आए थे। इसी दौरान सोनू कांचा व सोनू कुमार उसके पास आए और गाली-गलौच करते हुए उस पर हमला कर दिया। हमलावर उन पर लाठियों और दरांत से वार कर रहे थे। इस दौरान उसके साथ मोटरसाइकल पर आया रमनदीप वहीं गिर गया और हमलावरों ने उसकी टांगें बुरी तरह काटते हुए शरीर पर भी कई घाव दिए। जब वह (गगनदीप) वहां से भागने लगा तो कुछ दूरी पर जाकर हमलावरों ने उसे भी घेर लिया और सड़क पर लिटाकर बुरी तरह दरांत से वार करके गंभीर घायल कर दिया। इसके कारण वह बेहोश हो गया। बदमाशों ने उसे बेरहमी से घायल करते हुए उसके हाथ की अंगुली तक काट दी। इसके बाद आरोपी सोनू कांचा ने अपने भाई बबलू को फोन करके कहा कि तेरा बदला ले लिया है और गगनदीप को मार दिया है। यह कहकर हमलावर वहां से फरार हो गए। इसके बाद वहां पर आए कुछ लोगों ने इसकी सूचना पुलिस कंट्रोल रूम पर दी और पुलिस ने उन्हें अस्पताल दाखिल करवाया। जहां से गंभीर घायल हुए रमनदीप को फरीदकोट मेडिकल कॉलेज दाखिल करवाया गया। वहां उसने बुधवार को दम तोड़ दिया।

Source BHASKAR

%d bloggers like this: