लोगों ने 15 लाख वीडियोज मेरे ही गीतों पर बनाकर मुझे टैग किया है- सिंगर व टिकटॉक सेनसेशन हार्पी गिल

  • अपनी म्यूजिक जर्नी और फोक सिंगिंग को साथ लेकर चलने की बात की
  • डेढ़ लाख के करीब टिकटॉक पर हार्पी के फॉलोअर्स हैं

दैनिक भास्कर

Jun 01, 2020, 02:50 PM IST

चंडीगढ़.

(मधुप यादव).एक पंजाबी जट्टी किसी पर भी भारी पड़ सकती है अगर वह चीजाें को सहने करने की बजाय आवाज बुलंद कर अपनी आई पर आ जाए। कहती हैं सिटी बेस्ड सिंगर हार्पी गिल जो एक गायक होने के साथ-साथ टिकटॉक सेनसेशन भी हैं और सोशल मीडिया पर “लेथल जट्‌टी’ के रूप मेें पहचानी जाती हैं। फरवरी में आए उनके गीत को 40 मिलियन हिट्स मिल चुके हैं। मोहाली बेस्ड यह सिंगर मूलत: पंजाब के संगरूर से है। बताती हैं कि उन्होंने टीवी पर मिस पूजा को काफी सुना है। इसलिए हमेशा उनके जैसा ही बनना चाहती थीं।

गाने की शुरुआत उन्होंने तीसरी क्लास से ही कर दी थी। चूंकी पापा लड़कियों के गाने गाने को अच्छा नहीं मानते, इसलिए उन्होंने मेरी  सिंगिंग को कभी सपोर्ट नहीं किया। बताती हैं कि मैं जट्‌ट जमींदार परिवार से हूं।संगरूर से पढ़ाई की, स्कूल व कॉलेज के कार्यक्रमों में गाती थी। पंजाबी यूनिवर्सिटी पटियाला से पंजाबी फोक म्यूजिक और फिर थिएटर में मास्टर्स की। मैंने पढ़ते हुए म्यूजिक की बारीकियां जानीं। फोक सिंगिंग, सूफी म्यूजिक काे जाना। हार्पी ने बताया, मुझे अपनी संस्कृति से बेहद प्रेम है।इसलिए हमेशा एलिगेंस व सिंप्लिसिटी को अपने साथ कैरी किया।

खुद को रिप्रजेंट करने की चाहत थी इसलिए पहले लुड्‌डी, सम्मी का फोक म्यूजिक किया। फिल्मों के लिए गीत ऑफर हुए तो मैंने फोक सिंगिग से अपना म्यूजिक अर्बन बीट किया। म्यूजिक में वेरिएशन लाने ही सिंगर का काम होता है। यही आज के समय की मांग भी है। हालांकि मैं जैसा फोक गीत गाकर खुद को रिप्रजेंट करना चाहती हूं वो मौका नहीं मिला है। हालांकि मैं  खाने-पीने आदि चीजों पर पर इतना ध्यान नहीं देती। लकिन डबिंग करते वक्त आवाज पर गौर करना होता है। इसलिए मस्ट हैव चीजों में मैं अपने पर्स में मुलट्‌ठी और मिश्री जरूर रखती हूं। 

सोशल मीडिया अनुभव अच्छा रहा

हार्पी ने कहा, वैसे सिंगर हूं पर टिकटॉक पर अपने कॉमिक वीडियोज के लिए जानी जाती हूं। इस मीडियम में काॅमेडी गढ़ने में अच्छी हूं। इसपर ज्यादा ध्यान भी देती हूं। डेढ़ लाख के करीब मेरे फॉलोअर्स टिकटॉक पर हैं। कामकाज की वजह से रोजाना कॉमेडी पोस्ट नहीं कर पाती मगर मौका मिलने पर कुछ कॉमेडी वीडियो पोस्ट करती हूं। जैसे दो से तीन दिनों में एक वीडियोज। टिक-टॉक पर मेरे जितने फाॅलोअर्स नहीं हैं, लोगों ने उतने वीडियोज मेरे गीत पर बना रखे हैं। मेरे म्यूजिक पर 15 लाख के आसपास टिकटॉक वीडियोज बनाकर “लेथल जट्‌टी’ लिखकर डाल रखा है। मेरे गीत को लोगों ने इस तरह एप्रिशिएट किया कि वो मेरे म्यूजिक पर अपनी वीडियो बनाकर मुझे टैग करने लगे। रोज करीब 15 से 20 लोग टैग करते ही हैं। 

Source BHASKAR

%d bloggers like this: