लेबर कानून में बदलाव और मजदूरों को लेकर जत्थेबंदियों का प्रदर्शन

लुधियाना में अपनी मंगो को लेकर रोष प्रर्दशन करते विभिन्न जत्येबदियों के सदस्य।
– फोटो : LUDHIANA

ख़बर सुनें

ट्रेड यूनियन की तरफ से शुक्रवार को केंद्र की नीतियों को लेकर प्रदर्शन किया गया। इस प्रदर्शन में विभिन्न जत्थेबंदियों के प्रतिनिधि शामिल थे, जो लेबर लॉ में बदलाव किए जाने के खिलाफ दिखे। घर लौट रहे प्रवासियों के उचित इंतजाम न करने पर केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी की गई। सभी यूनियन की तरफ से डीसी दफ्तर पहुंचकर अपना ज्ञापन भी सौंपा गया।
अमरजीत कौर ने कहा कि जो भी प्रवासी अपने घरों को लौटना चाह रहे हैं, केंद्र उनके प्रति संवेदनशील नहीं है। इसलिए मजबूरी में प्रवासी सैकड़ों किलोमीटर पैदल जाने के लिए मजबूर है। केंद्र की तरफ से श्रमिक ट्रेन को शुरू किया गया है, उनकी संख्या बहुत कम है। ऐसे में प्रवासियों को अपने घर पहुंचने में कई माह इंतजार करना होगा।
सीटू से रघुनाथ सिंह ने कहा कि केंद्र ने जो पैकेज जारी किया है, उसमें हेल्थ सेक्टर पूरी तरह से नजरअंदाज किया गया है। जबकि कोरोना के खिलाफ सेहत विभाग के सभी मुलाजिम फ्रंट लाइन पर काम कर रहे है। वहीं सरकार ने केंद्र सरकार के मुलाजिमों के डीए और डीआर रोक कर गलत किया है। इस मौके पर डीपी मौड, तरसेम जोधा, गुरजीत सिंह और जयपाल सिंह मौजूद थे।

ट्रेड यूनियन की तरफ से शुक्रवार को केंद्र की नीतियों को लेकर प्रदर्शन किया गया। इस प्रदर्शन में विभिन्न जत्थेबंदियों के प्रतिनिधि शामिल थे, जो लेबर लॉ में बदलाव किए जाने के खिलाफ दिखे। घर लौट रहे प्रवासियों के उचित इंतजाम न करने पर केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी की गई। सभी यूनियन की तरफ से डीसी दफ्तर पहुंचकर अपना ज्ञापन भी सौंपा गया।

अमरजीत कौर ने कहा कि जो भी प्रवासी अपने घरों को लौटना चाह रहे हैं, केंद्र उनके प्रति संवेदनशील नहीं है। इसलिए मजबूरी में प्रवासी सैकड़ों किलोमीटर पैदल जाने के लिए मजबूर है। केंद्र की तरफ से श्रमिक ट्रेन को शुरू किया गया है, उनकी संख्या बहुत कम है। ऐसे में प्रवासियों को अपने घर पहुंचने में कई माह इंतजार करना होगा।

सीटू से रघुनाथ सिंह ने कहा कि केंद्र ने जो पैकेज जारी किया है, उसमें हेल्थ सेक्टर पूरी तरह से नजरअंदाज किया गया है। जबकि कोरोना के खिलाफ सेहत विभाग के सभी मुलाजिम फ्रंट लाइन पर काम कर रहे है। वहीं सरकार ने केंद्र सरकार के मुलाजिमों के डीए और डीआर रोक कर गलत किया है। इस मौके पर डीपी मौड, तरसेम जोधा, गुरजीत सिंह और जयपाल सिंह मौजूद थे।

Source AMAR UJALA

%d bloggers like this: