लूट के लिए की गई थी पत्रकार सनप्रीत मांगट की हत्या, एक दिन पहले ही गठित एसआईटी ने किया खुलासा

  • राहों के रहने वाले सनप्रीत मांगट की 10 मई को संदिग्ध हालात में खून से सनी लाश मिली थी सड़क के किनारे
  • पहले सड़क हादसा मान कार्रवाई की थी पुलिस ने, शुक्रवार को ही पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के आधार पर हत्या की धारा जोड़ी गई
  • वारदात के दौरान इस्तेमाल धारदार हथियार और दो मोटरसाइकलों के साथ 6 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 06:15 PM IST

नवांशहर. नवांशहर में पत्रकार सनप्रीत मांगट की मौत के मामले में पुलिस ने बड़ा खुलासा किया है। पुलिस के मुताबिक सनप्रीत की हत्या लूट गैंग के 6 लोगों ने की थी। पहले इस मौत को सड़क हादसा माना जा रहा था, वहीं शुक्रवार को पुलिस ने इस मामले में हत्या की धारा जोड़ी थी। एसएसपी अल्का मीणा ने इस मामले की जांच के लिए कल ही एसआईटी का गठन किया था। शनिवार को पुलिस ने खुलासा किया कि रात में अकेले लोगों को लूटने वाले एक गैंग ने सनप्रीत की जान ली थी। 
आरोपियों की पहचान राहों के रहने वाले जगदीप सिंह, बख्शीश सिंह, जनित कुमार और हर्ष के अलावा गांव गढ़ पधाना के हरजिंदर सिंह और कमलजीत सिंह के रूप में हुई है। घटना बीती 10 मई की है, जब राहों के रहने वाले एक राष्ट्रीय हिंदी दैनिक समाचार पत्र के पूर्व पत्रकार और नशा तस्करी के दो मामलों में सनप्रीत मांगट की संदिग्ध हालात में मौत हो गई थी। पिता बलवंत सिंह ने हालिया बयान में कहा है कि घटना वाले दिन हम खेत में ही थे। रात में खेत में पानी लगाना थामैंने सनप्रीत को फोन किया तो उसने 5 मिनट में आने की बात कही थी, मगर वह लौटा नहीं। बाद में फोन बंद आने लगा तो बलवंत खुद मोटरसाइकल से देखने चले गए। वहां सनप्रीत का खून से लथपथ शव पड़ा था और पास ही उसकी बाइक स्टैंड पर खड़ी थी।
पहले पुलिस ने इसे सड़क हादसा मानते हुए कार्रवाई की थी। शव का बलाचौर सिविल अस्पताल से पोस्टमॉर्टम करवाया गया है। वहां से आई रिपोर्ट में सनप्रीत के शरीर पर धारदार हथियार से 14 जगह निशान मिले। पुलिस ने पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के आधार पर हत्या का मामला दर्ज किया। इस मौत को सनप्रीत के द्वारा पत्रकार रहते समाजविरोधी तत्वों के कारनामे उजागर करने की रंजिश में की गयी हत्या माना जा रहा था। वहीं एसएसपी अल्का मीणा ने एसपी-डी, डीएसपी-डी, सीआईए इंचार्ज पर आधारित स्पेशल इन्वेस्टीगेशन टीम का गठन किया था। 
शनिवार को एसएसपी अल्का मीणा ने प्रेसवार्ता में बताया कि कातिलों की सनप्रीत मांगट के साथ कोई भी रंजिश नहीं थी। सभी ने शराब और भांग का नशा किया हुआ था। ये लोग अक्सर रात में अकेले लोगों को लूटते थे। इसी तरह की कोशिश में आरोपियों 10मई को खेत से लौट रहे सनप्रीत को बेरहमी से मार डाला। पुलिस ने सभी को गिरफ्तार कर वारदात में इस्तेमाल तेजधार हथियार और दो बाइक बरामद किए हैं। इन्हें कोर्ट में पेश करके रिमांड पर लिया जाएगा, ताकि कोई और खुलासा हो सके।

Source BHASKAR

%d bloggers like this: