Advertisements

यूपी: बसों की सियासत में पिस रहे श्रमिक, कांग्रेसियों की पुलिस से तीखी नोंकझोक भी हुई

आगरा: भले ही बसों की सियासत से कांग्रेस (Congress) ने अपनी राजनीति की रोटियां सेंकी हों, लेकिन इसमें मजाक सिर्फ श्रमिक का बना है. कांग्रेस पार्टी ने आगरा-भरतपुर बॉर्डर पर बसें तो भेज दीं लेकिन उनके पास परमीशन नहीं थी कि वो आगरा जिले में प्रवेश कर सकें. आगरा प्रशासन ने उन बसों को आगरा-भरतपुर बॉर्डर पर ही रोक दिया. जिसके बाद ये मामला गर्माता ही चला गया.

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष हुए गिरफ्तार 

बसों के जत्थे को आगे ले जाने के लिए कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय सिंह लल्लू बॉर्डर पर पहुंच गए, जहां उनकी पुलिस से तीखी नोकझोंक हुई. वो जबरन बिना अनुमति के बसों को आगरा जिले में प्रवेश कराना चाहते थे, जिसकी प्रशासन ने अनुमति नहीं दी. 

बॉर्डर को आगरा प्रशासन ने पूरी तरह सील कर दिया. इस दौरान कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय सिंह लल्लू, विवेक बंसल, प्रदीप माथुर समेत वहां मौजूद सभी कांग्रेसियों ने लॉक डाउन के नियमों की धज्जियां उड़ा दीं और नियम कानून को भी ताक पर रख दिया.

ये भी पढ़ें- कोरोना: सिंगापुर में Zoom पर लगी अदालत, दोषी को सुनाई गई सजा-ए-मौत की सजा

इसी वजह से अजय सिंह लल्लू, विवेक बंसल और प्रदीप माथुर को पुलिस ने डिटेन किया, फिर कुछ देर बाद एसएसपी आगरा बबलू कुमार ने इनकी गिरफ्तारी की पुष्टि भी कर दी. फतेहपुर सीकरी थाना क्षेत्र में धारा 188, 269 और महामारी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया, जिसमें अजय सिंह और विवेक बंसल को नामजद किया गया तो वहीं 4-5 लोगों को अज्ञात दिखाया गया. प्रदीप माथुर भी अज्ञात में शामिल थे जिनका नाम पुलिस ने बाद में खोला.

पुलिस लाइन में चला हाई वोल्टेज ड्रामा

कांग्रेसियों को जैसे ही पता चला कि अजय सिंह लल्लू को पुलिस ने पुलिस लाइन में रखा है, उसके बाद भारी संख्या में कांग्रेसी पुलिस लाइन के बाहर इकट्ठा हो गए, उन्होंने लल्लू सिंह को छोड़ने की मांग को लेकर जमकर नारेबाजी की. इस दौरान कांग्रेसियों की पुलिस से तीखी नोंकझोक भी हुई.

तीनों को मिली अंतरिम जमानत

कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय सिंह लल्लू, विवेक बंसल और प्रदीप माथुर को न्यायिक मजिस्ट्रेट द्वितीय अनुकृति संत की अदालत में कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच पुलिस ने पेश किया, जहां से तीनों को 16 जुलाई तक के लिए 20-20 हजार के निजी मुचलके पर अंतरिम जमानत मिल गई.

जमानत के बाद भी नही रिहा हुए लल्लू

अदालत से जमानत मिलने के बाद विवेक बंसल और प्रदीप माथुर को तो छोड़ दिया गया लेकिन अजय सिंह लल्लू को लखनऊ पुलिस अपने साथ ले गई. लखनऊ पुलिस की सूचना कांग्रेसियों को जैसे ही मिली, वे उग्र हो गए और पुलिस की गाड़ियों के सामने लेट गए. कांग्रेसी अजय सिंह लल्लू को अपने साथ ले जाने की जिद्द पर अड़ गए. इस दौरान पुलिस से हुई भिड़ंत में कई कांग्रेसी घायल भी हो गए. कड़ी मशक्कत के बाद लखनऊ पुलिस कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय सिंह लल्लू को अपने साथ ले गई.

LIVE TV- 

 

[source_ZEE NEWS]