भूकंप आने पर ये गलतियां बिल्कुल न करें, इस तरह बचाएं अपनी और लोगों की जान

नई दिल्ली: दिल्ली-एनसीआर ही नहीं, बल्कि देश के कई हिस्सों में देखा जा रहा है कि इन दिनों बार-बार भूकंप (Earthquake) आ रहे हैं. धरती की प्लेटों के टकराने से भूचाल आता है. रिक्टर स्केल पर भूकंप की तीव्रता मापी जाती है और आमतौर पर देखा गया है कि रिक्टर स्केल पर 6 से अधिक की तीव्रता वाले भूकंप से जान माल की काफी हानि होती है. वैसे बेहतर होगा कि आम इंसान को यह पता हो कि भूकंप के समय पर क्या करना चाहिए. आईए बताते हैं कि यदि भूकंप आए तो अपने और अपने आसपास के लोगों को कैसे बचा सकते हैं.

– पूरी धरती 12 टेक्टोनिक प्लेटों पर स्थित है जिसके नीचे लावा है. ये प्लेटें इसी पर तैरती रहती हैं. जब ये आपस में टकराती हैं तब भूचाल आता है. वैसे तो ये बेहद धीरे घूमती हैं लेकिन कभी-कभी ऐसा भी होता है कि ये टकरा जाती हैं.

– अब जब आप नया मकान बना रहे हों तो उसे भूकंप रोधी बनाएं. जिन जमीन पर बना रहे हैं उसकी जांच करवा लें तो और बेहतर है. यदि यह संभव न हो तो पुराने घर जिसमें आप रह रहे हैं या फिर नए घर में आप रेट्रोफिटिंग करवा सकते हैं.

-जब भूकंप आ जाए तो किसी मजबूत फर्नीचर या मजबूत टेबल या फिर किसी मजबूत बेड के नीचे खुद को छुपा लेना चाहिए.

झारखंड के जमशेदपुर और कर्नाटक के हम्पी में भूकंप के झटके, लोगों में दहशत

-ध्यान दें कि खिड़कियों, शीशों और बड़े फ्रेम वाली तस्वीरों जो दीवार पर टंगी हों तो दूर रहें. ये आप पर गिरकर आपको चोट पहुंचा सकती हैं.

-यदि अपनी इमारत से नीचे आ गए हैं या पहले से ही घर या ऑफिस से बाहर थे तो पेड़ों, टेलीफोन और बिजली लाइनों, पुलों से दूर रहें.

-लिफ्ट का प्रयोग न करें. सीढ़ियों का प्रयोग करें. यदि घर के भीतर ही हों तो अपने चेहरे और सिर को हाथों से ढंक लें और भूचाल खत्म होने तक एक
सुरक्षित जगह पर खड़े हो जाएं.

ये भी देखें:

[source_ZEE NEWS]
%d bloggers like this: