फरीदकोट के कारोबारी पर शहर के कई लोगों ने लगाए धोखाधड़ी के आरोप

  • राजनीतिक शह पर मेरे साथ की जा रही धक्केशाही : रवि वर्मा

दैनिक भास्कर

May 27, 2020, 08:12 AM IST

मोगा. (मनप्रीत संधू) फरीदकोट के करीब आधा दर्जन लोगों ने शहर के कारोबारी रवि वर्मा पर आरोप लगाए हैं कि उसने विभिन्न फर्मों के माध्यम से उन लोगों के साथ लाखों रुपए की धोखाधड़ी की है। उक्त कारोबारी पर आरोप लगाने वालों में कुछ व्यक्ति उक्त कारोबारी के पूर्व कर्मचारी भी हैं।

इन लोगों ने पुलिस की इस सारे मामले में भूमिका पर भी सवाल उठाते हुए कार्रवाई न करने के आरोप लगाए हैं। जबकि इस मामले में आरोपी व्यक्ति ने अपने ऊपर लगे सभी आरोपों को खारिज करते हुए इसे कथित राजनीति से प्रेरित बताया।

फरीदकोट के नजदीकी गांव गोलेवाला वासी जगसीर सिंह ने बताया कि उसकी मिठाइयों की दुकान है और रवि वर्मा ने उनसे 2019 में दीवाली के अवसर पर अपनी दुकान दिल्ली दरबार के लिए करीब 3.5 लाख रुपए की मिठाई खरीदी थी। इसमें से रवि वर्मा ने उनको पेशगी के तौर पर सिर्फ 50 हजार रुपए ही दिए और बाकी दिवाली से अगले दिन देने का वादा किया था, परन्तु आज तक उसने एक भी पैसा नहीं दिया और जब वह इस संबंधी शिकायत करने को डीएसपी फरीदकोट को मिलने गया तो उन्होंने उनकी कोई बात नहीं सुनी। उन्होंने उक्त व्यक्ति से पैसे दिलाए जाने की मांग की।

फरीदकोट वासी नवप्रीत सिंह ने कहा कि रवि वर्मा नामक उक्त कारोबारी इससे पहले दिल्ली में कथित ठगी मार कर भागा हुआ है और जलालाबाद, फाजिल्का व फिरोजपुर में भी लोगों के साथ ठगी मार चुका है। नवप्रीत ने कहा कि रवि वर्मा ने खुद को ठेकेदार बताकर उसे हिस्सेदार बनाने की बात कही जिस पर उन्होंने 12 लाख रुपए रवि वर्मा के खाते में आरटीजीएस करवाई है जबकि 3 लाख रुपए चेक द्वारा रवि वर्मा के खाते में जमा करवाए। परन्तु अब यह पैसा वापस नहीं कर रहा।

नवप्रीत ने बताया कि जब रवि घर से भागने की तैयारी में था तो शहर के लोगों ने इसको रोकने की कोशिश की तो इसने उन पर धक्केशाही के आरोप लगाए। जब हमने इस संबंधित पुलिस को सूचित किया तो पुलिस ने कोई भी कार्रवाई नहीं की। यदि पुलिस ने उनको इंसाफ न दिलाया तो वह खुदकुशी करने के लिए मजबूर होंगे।
रवि वर्मा के पास काम करने वाली युवती गायत्री शर्मा ने बताया कि मैं इनके पास काम करती थी तो मैंने कमेटी के पैसे उठाए थे।

गायत्री ने बताया कि रवि वर्मा ने उससे उधार कह कर 40 हजार रुपए ले लिए परन्तु अब यह व्यक्ति न तो मेरी वेतन दे रहा और न ही उधार लिए पैसे दे रहा। उसने कहा कि वह गरीब परिवार से संबंधित है और उसका पिता विकलांग है। उसने कहा कि यदि उसे उसके पैसे न मिले तो वह मरने के लिए मजबूर होगी।

लोगों द्वारा लगाए गए आरोपों पर रवि वर्मा ने बताया कि उसे न तो जगसीर सिंह का कुछ देना है और न ही किसी और का। रवि ने बताया कि जो उसने अकाउंट के जरिए पैसे शमशेर सिंह नाम के व्यक्ति से लिए थे उसे कुछ पैसे अकाउंट द्वारा वापस कर चुका है और कुछ पैसे बकाया हैं जो लॉकडाउन होने के कारण काम बंद होने के चलते नहीं दे सका। उसने कहा कि उसके साथ राजनीतिक शह पर धक्केशाही की जा रही है।

इस मामले में संपर्क करने पर एसपी हेडक्वार्टर फरीदकोट भुपिन्दर सिंह ने कहा कि यह पैसों के लेन देन का मामला है जिसकी जांच डीएसपी फरीदकोट द्वारा की जा रही है। इसमें यदि कोई आपराधिक तथ्य सामने आएंगे तो उसके आधार पर बनती कार्रवाई की जाएगी।

Source BHASKAR

%d bloggers like this: