‘पिंजरा तोड़’ कार्यकर्ता नताशा हुई अरेस्ट, दिल्ली दंगे की साजिश रचने का है आरोप

नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस (Delhi Police) की स्पेशल सेल ने उत्तर-पूर्वी दिल्ली में फरवरी महीने में हुए दंगों की साजिश रचने के आरोप में शुक्रवार को गैरकानूनी गतिविधियां रोकथाम कानून (UAPA) के तहत ‘पिंजरा तोड़’ ग्रुप की कार्यकर्ता नताशा नरवाल को गिरफ्तार कर लिया.

पुलिस ने बताया कि नताशा नरवाल के साथ अन्य मामले में गिरफ्तार की जा चुकी जेएनयू की छात्रा देवांगना कलिता की दंगों में भूमिका क्राइम ब्रांच के जांच के दायरे में है और उसे 11 जून तक न्यायिक हिरासत में रखा गया है.

ये दोनों ही पिंजरा तोड़ ग्रुप से जुड़ी हुई हैं, जोकि दिल्ली भर के कॉलेज की छात्राओं और पूर्व छात्रों का एक समूह है. दोनों वर्तमान में दिल्ली की मंडोली जेल में बंद हैं.

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने नाम नहीं बताने की शर्त पर कहा, ‘हमारे पास उत्तर-पूर्वी दिल्ली दंगा मामले में साजिश रचने को लेकर नताशा नरवाल के खिलाफ पुख्ता सबूत हैं, जिसकी जांच स्पेशल सेल कर रही है. ऐसे में हमने कोर्ट की अनुमति के बाद उसे औपचारिक रूप से गिरफ्तार किया है.’

ये भी पढ़ें- अच्छी खबर: 10 दिन के भीतर दिल्ली के ड्राइवरों को मिलेगा 5000 रुपये, कोर्ट ने दिया आदेश

इन दोनों को फरवरी में जाफराबाद में ‘नागरिकता संशोधन कानून’ के खिलाफ हुए एक प्रदर्शन के सिलसिले में बीते 23 मई को गिरफ्तार किया गया था और एक दिन बाद इस मामले में दोनों को कोर्ट ने जमानत दे दी थी.

ये वीडियो भी देखें-

कोर्ट द्वारा आदेश पारित करने के कुछ ही समय बाद दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने एक अर्जी दायर करके उनसे पूछताछ का अनुरोध किया और हिंसा से जुड़े एक अन्य मामले में उन्हें औपचारिक रूप से गिरफ्तार कर लिया था और बृहस्पतिवार को दोनों को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया.

उत्तर-पूर्वी दिल्ली में पिछले 24 फरवरी को दंगे भड़क गए थे, जिसमें 53 लोगों की मौत हो गई थी और 200 से अधिक घायल हुए थे.

(इनपुट- भाषा)

[source_ZEE NEWS]
%d bloggers like this: