निर्जला एकादशी पर भी मंदिरों में नहीं पहुंचे लोग, किसानों-मजदूरों और बिजली कर्मचारियों ने किया प्रदर्शन

  • पंजाब में कोरोना से अब तक 2412 लोग संक्रमित हो चुके हैं, वहीं इनमें से 50 की मौत हो गई
  • नए नियमों के मुताबिक, जिम्नेजियम हाल, स्विमिंग पूल, मनोरंजन पार्क, बार, सिनेमा घर, ऑडिटोरियम बंद रहेंगे

दैनिक भास्कर

Jun 02, 2020, 02:23 PM IST

पंजाब में कोरोना से अब तक 2412 लोग संक्रमित हो चुके हैं, वहीं इनमें से 50 की मौत हो गई। नई हिदायतों के मुताबिक, राज्य में जिम्नेजियम हाल, स्विमिंग पूल, मनोरंजन पार्क, बार, सिनेमा घर, ऑडिटोरियम आदि बंद रहेंगे। रात का क‌र्फ्यू रात 7 से सुबह 7 बजे तक होगा। सिर्फ रेल और हवाई यात्रा करने वाले यात्रियों की टिकटों को ही उनका क‌र्फ्यू पास माना जाएगा, जबकि अन्य लोगों को बाहर निकलने के लिए क‌र्फ्यू पास जरूरी होगा।

इसके अलावा, मास्क नहीं पहनने वालों और शारीरिक दूरी का ध्यान न रखने वालों के चालान काटे जाएंगे। पब्लिक प्लेस पर थूकने, दुपहिया वाहन पर एक से ज्यादा और कार में तीन से ज्यादा लोगों के होने पर कोई समझौता नहीं किया जाएगा। इधर, सूबे में निर्जला एकादशी लोगों ने शारीरिक दूरी के नियम का पालन करके मनाई। धार्मिक श्रद्धा के तहत लोगों ने व्रत तो रखा, लेकिन मंदिर नहीं गए। निर्जला एकादशी के बाद भी मंगलवार को शहर के मंदिरों के कपाट बंद रहे। ऐसे में अधिकतर लोगों ने जरूरतमंदों को व्रत का सामान देकर दान की रस्म पूरी की। हालांकि निर्जला एकादशी व्रत का सामान बेचने वाली दुकानों पर तड़के से ही लोग पहुंचने शुरू हो गए। इस दौरान उन्होंने हथपंखी, फल, बर्तन व शरबत की खरीदारी की।

लोगों ने सड़कों पर बैठे जरूरतमंद लोगों को व्रत का सामान वितरित किया

जालंधर में बंद पड़े मंदिरों के कपाट और पंडितों की कमी के कारण लोगों ने सड़कों पर बैठे जरूरतमंद लोगों को व्रत का सामान वितरित किया। मां चिंतपूर्णी मंदिर माई हीरां गेट, श्री देवी तालाब मंदिर और श्री सिद्ध बाबा सोढल मंदिर के बाहर बैठे भिखारियों को दान का सामान भेंट किया।

डीसी के आदेश- दुकानें नियम के मुताबिक ही खुलनी चाहिए
अमृतसर में डिप्टी किमश्नर शिवदुलार सिंह ढिल्लो ने शहर के लिए सख्त हिदायतें जारी की दी हैं। डीसी ने कहा कि बाजारों में दुकानें खोले जाने पर भी सख्ती से नजर रखी जाएगी। दुकान में भीड़ दिखने या दुकानदार, कर्मी या ग्राहक के मास्क नहीं पहनने पर कार्रवाई होगी। शहर में दुकानें ए, बी और सी वर्ग के मुताबिक ही खुलेंगी। बड़े बाजारों की दुकानें भी नियम के मुताबिक ही खुलनी चाहिए। अमृतसर जिला देहाती के एसएसपी विक्रमजीत सिंह दुग्गल ने कहा कि देहात में दुकानें सुबह नौ से शाम छह बजे तक ही खुलेंगी। अगर दुकानदार शारीरिक दूरी का ध्यान नहीं रखते तो इसका उल्लंघन करने वालों पर सख्त कार्रवाई होगी।

लुधियाना में नगर निगम कमिश्नर ने कर्मचारियों व अफसरों को मैसेज भेजकर ड्यूटी पर बुलाया
लुधियाना में नगर निगम कमिश्नर ने सभी कर्मचारियों व अफसरों को मैसेज भेजकर अपनी अपनी ड्यूटी पर आने को कहा है। उन्होंने चारों जोन के जोनल कमिश्नरों से उनके दफ्तरों में उपस्थित कर्मचारियों व अफसरों की रिपोर्ट मांगी। जोनल कमिश्नरों ने भी दोपहर बाद सभी कर्मचारियों व अफसरों की उपस्थिति रिपोर्ट कमिश्नर को भेजी। जो कर्मचारी ड्यूटी पर नहीं आए उनसे भी पूछा गया कि वह अभी कहां पर ड्यूटी कर रहे हैं।

पठानकोट कैंट पर रुकेगी जम्मूतवी-दिल्ली राजधानी एक्सप्रेस
पठानकोट के बाजारों में भी रौनक बढ़ना शुरू हो गई है, लेकिन अभी तक ट्रेन शुरू नहीं हो पाई हैं। हालांकि जम्मूतवी-दिल्ली के बीच चलने वाली राजधानी एक्सप्रेस का पठानकोट कैंट पर फिर से ठहराव मंजूर हो गया है। ऐसे में पठानकोट व हिमाचल प्रदेश के दिल्ली जाने वालों को काफी राहत मिलेगी। साथ ही, उम्मीद है कि पठानकोट डिपो को इंटर स्टेट बस सर्विस शुरू करने की भी हरी झंडी मिल जाएगी।

राजपुरा की मीट मार्केट में लॉकडाउन के नियम तोड़ने वाले दुकानदार को नसीहत देते पुलिस और नगर निगम की टीम। टीम ने 13 दुकानदारों के चालान।

राजपुरा में लाॅकडाउन के नियम तोड़ने पर मीट के 13 दुकानदारों के चालान
पटियाला जिले के कस्बा राजपुरा में मीट मार्केट में नियमों का उल्लंघन करने वाले 13 दुकानदारों के चालान किए गए हैं। नगर कौंसिल के ईओ रवनीत सिंह के आदेशों पर सैनिटरी इंस्पेक्टर विकास चौधरी की अगुआई में पहुंची टीम ने मीट मार्केट में पहुंचकर छापेमारी शुरू कर दी। मार्केट के 13 दुकानदारों, जिन्होंने सैनिटाइज न करने के साथ मुंह पर मास्क व दस्ताने नहीं पहन रखे थे के चालान काटकर भारी जुर्माना भरने के आदेश दिए।

गुरदासपुर के नेहरू पार्क में काले बिल्ले लगाकर प्रदर्शन करते बिजली कर्मचारी।

गुरदासपुर में बिजली कर्मियों ने सड़कों पर उतरने की चेतावनी दी
गुरदासपुर में बिजली मुलाजिमों ने नेहरू पार्क में काले बिल्ले लगाकर केंद्र सरकार के खिलाफ रोष व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार बिजली एक्ट 2020 को संसद में पास करने व लेबर कानून में संशोधन करके मजदूर व लोक विरोधी नीतियां तैयार कर रही हैं। इसका वो विरोध करते हैं। अगर यह बिल पास हो गया तो वे सड़कों पर उतर आएंगे।

तरनतारन में बिजली एक्ट-2020 को लागू करने के विरोध में पावरकॉम कार्यालय के समक्ष धरने पर बैठे किसान।

तरनतारन में बिजली एक्ट- 2020 को लागू करने के विरोध में

तरनतारन के झब्बाल में किसान-मजदूर संघर्ष कमेटी के जोन बीड़ बाबा बुड्ढा साहिब जी के नेताओं ने बिजली एक्ट-2020 को लागू करने के विरोध में पावरकॉम कार्यालय के समक्ष धरना लगाया। इस मौके पर जोन अध्यक्ष धन्ना सिंह लालूघुमण, सचिव जरनैल सिंह नूरदी, प्रेस सचिव बलजीत सिंह बघेल सिंह वाला ने कहा कि केंद्र सरकार बिजली एक्ट-2020 को लागू करके पावरकॉम का वजूद खत्म करके उसे निजी कंपनियों के हवाले करने की तैयारी कर रही है। इसके अलावा किसानों को ट्यूबवेल के बिल लगाने की योजना बना रही है और मजदूरों को जो 200 यूनिट माफ किए थे, वह सब्सिडी भी बंद करवाई जा रही है।

फरीदकोट जिले कोटकपूरा में पार्क में घूमने आए लोग। जिले में पार्कों के गेट खुलने से लोग खुश नजर आ रहे हैं।

Source BHASKAR

%d bloggers like this: