Advertisements

देश में कोरोना के मामलों में रिकॉर्ड बढ़ोतरी; संक्रमित लोगों की संख्या एक लाख के पार

नई दिल्ली: देश में कोरोना वायरस (coronavirus) से संक्रमित लोगों की संख्या सोमवार को एक लाख (1,00,000) के चिंताजनक आंकड़े को पार कर गई. पिछले 24 घंटे में महाराष्ट्र (Maharashtra), गुजरात (Gujarat), तमिलनाडु (Tamilnadu) और अन्य कई राज्यों में कोविड-19 (COVID-19) के कई हजार नए मामले सामने आए हैं. देश में कोरोना वायरस संक्रमण से अभी तक 3,000 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. पिछले 24 घंटे में संक्रमण के रिकॉर्ड 5,242 मामले सामने आए और 157 लोगों की मौत हुई.  

स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, देश में अभी तक 96,169 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हुए हैं जबकि इस वायरस संक्रमण से 3,029 लोगों की मौत हुई है. वहीं कुल 36,824 लोग इलाज के बाद ठीक अपने-अपने घर लौट गए हैं. न्यूज एजेंसी पीटीआई-भाषा के मुताबिक, सोमवार रात साढ़े 10 बजे (10:30 रात) तक देश में 1,00,157 लोगों के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है वहीं कुल 3,078 लोगों की संक्रमण से मौत हुई है जबकि 38,596 लोग इलाज के बाद ठीक हुए हैं. 

महाराष्ट्र की स्थिति सबसे खराब
कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या के आधार पर बात करें तो देश में सबसे खराब स्थिति पश्चिमी राज्य महाराष्ट्र की है. राज्य में अभी तक कोविड-19 के 35,058 मामलों की पुष्टि हुई है. राज्य में लगातार दो दिन से 2,000 से ज्यादा नए मामले आ रहे हैं. राज्य सरकार के अनुसार महाराष्ट्र में अभी तक कुल 1,249 लोगों की मौत संक्रमण के कारण हुई है. बीएमसी ने आज बताया कि मुंबई में कोरोना वायरस से संक्रमण के 1,185 नए मामले आए हैं, जबकि 23 और लोगों की मौत हुई है. महानगर में अभी तक संक्रमण से 757 लोगों की मौत हुई है, जबकि कुल 21,152 लोग वायरस से संक्रमित हुए हैं. 

गुजरात, तमिलनाडु और दिल्ली में 10 हजार से ज्यादा मरीज
गुजरात में अभी तक कोविड-19 11,746 मामले सामने आए हैं जबकि संक्रमण से 694 लोगों की मौत हुई है. गुजरात के अहमदाबाद में कोरोना वायरस से 31 और मरीजों की मौत होने के साथ ही जिले में अभी तक संक्रमण से मरने वालों की संख्या बढ़कर 555 हो गई है। जिले में अभी तक कुल 8,683 लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि हुई है. 

वहीं तमिलनाडु में अभी तक कुल 11,760 लोगों के कोरोना वायरस से संक्रमित होने और संक्रमण से कुल 81 लोगों के मरने की पुष्टि हुई है. वहीं राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में भी कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 10,000 के पार पहंच गई है जबकि अभी तक 160 लोगों की मौत संक्रमण के कारण हुई है. केरल में कोविड-19 के मामलों में बढ़ोतरी का रुख आज भी जारी रहा और राज्य में 29 नये मामले सामने आए हैं. फिलहाल राज्य में 630 लोगों के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है. 

ICMR ने टेस्टिंग रणनीति में किया बदलाव
भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) ने भारत में कोरोना वायरस की जांच के लिए अपनी रणनीति में बदलाव किया है. अब अस्पतालों में भर्ती किसी भी रोगी को और कोविड-19 की रोकथाम और नियंत्रण में लगे अग्रिम पंक्ति के लोगों में इन्फ्लुएंजा जैसी बीमारी (आईएलआई) के लक्षण दिखने पर उनकी भी आरटी-पीसीआर जांच होगी. इसके अलावा, किसी संक्रमित मामले के सीधे संपर्क में और अत्यंत जोखिम में रहने वाले ऐसे लोग जिनमें लक्षण नहीं हैं, उनकी संपर्क में आने के पांचवें और दसवें दिन के बीच एक बार संक्रमण का पता लगाने के लिए जांच की जाएगी. अभी तक ऐसे मामलों में पांचवें और 14वें दिन के बीच एक बार जांच की जा रही है. 

migrants

एक या दो मामले आने पर पूरा ऑफिस बंद नहीं होगा
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने आज कहा कि कोविड-19 के एक या दो मामले आने पर कार्यालय के समूचे भवन को बंद करने की जरूरत नहीं होगी और निर्देशों के तहत संक्रमणमुक्त बनाने के बाद काम बहाल किया जा सकता है. कार्यस्थल यानी वर्कप्लेस पर कोविड-19 के प्रसार को रोकने के लिए एहतियाती उपायों पर दिशानिर्देश में कहा गया है कि हालांकि बड़े स्तर पर मामले सामने आने पर समूची इमारत को 48 घंटे के लिए बंद किया जाएगा.  इमारत को संक्रमण मुक्त बनाए जाने और फिर से इसे काम बहाली के लिए उपयुक्त घोषित किए किए जाने तक सभी कर्मचारी घर से काम करेंगे. 

ये भी देखें:

[source_ZEE NEWS]