दवा बांटी केमिस्ट्स ने, आरोग्य सेतु ऐप पर प्रचार ई फार्मेसी कंपनियों का क्यों : अशोक बालियांवाली

  • कहा-ई-फार्मेसी कंपनियों का प्रचार हो बंद, पीएम के नाम ज्ञापन भेजा

दैनिक भास्कर

May 29, 2020, 07:25 AM IST

बठिंडा. कोरोना महामारी से बचाव के रूप में प्रचारित आरोग्य सेतु ऐप में ई-फार्मेसी कंपनियों के विज्ञापन चलाने का दी बठिंडा डिस्ट्रिक्ट केमिस्ट एसोसिएशन(टीबीडीसीए) द्वारा विरोध जताया गया है।

ऑल इंडिया ऑर्गेनाइजेशन ऑफ केमिस्ट एंड ड्रगिस्ट व पंजाब केमिस्ट एसोसिएशन की अगुवाई में संचालित टीबीडीसीए द्वारा जिला प्रधान अशोक बालियांवाली की अगुवाई में पीएम मोदी के नाम एक ज्ञापन भेजा गया है।

इस मौके जिला प्रधान अशोक बालियांवाली, जिला चेयरमैन नंदलाल कांसल, जिला महासचिव रूपिंदर गुप्ता व फायनेंस सचिव रमेश गर्ग ने बताया कि कोरोना के कारण कर्फ्यू दौरान देश के 8.5 लाख कैमिस्टों ने अपनी जान की परवाह किए बिना केमिस्ट सेवाएं जारी रखी, मगर इसके बावजूद सरकारी ऐप में  ई-कॉमर्स कंपनियों के विज्ञापन आना हैरानी की बात है।

उन्होंने कहा कि यह एेप कोरोना से बचाव व इस बाबत महत्वपूर्ण जानकारियां देने के लिए बनाया गया था, व केमिस्टों द्वारा इस ऐप का ज्यादा से ज्यादा प्रचार करके आम जनता को इस ऐप के साथ जोड़ा गया था व इस समय देश के करीब 10 करोड़ लोग इस ऐप का फायदा उठा रहे हैं, मगर इस एेप पर ऐसे विज्ञापन चलाकर सरकार ने केमिस्टों का मनोबल तोड़ने का कार्य किया है।

अशोक बालियांवाली ने कहा कि केमिस्टों की केंद्रीय संगठनों के नेताओं का यह भी मानना है कि ई-फार्मेसी से संबंधित काफी कंपनियां अवैध रूप से चल रही है। यह ड्रग एंड कॉस्मैटिक कानून के अधिनियम 1940 और नियम 1945 के प्रावधानों का उल्लंघन है।

इससे मादक पदार्थों की तस्करी भी बढ़ने की आशंका है। जबकि इमरजेंसी मामलों में दवाओं का भंडारण करके उनका दुरुपयोग भी किया जा सकता है। अशोक बालियांवाली ने सरकार से मांग की कि आरोग्य सेतु मोबाइल एेप से ई-फार्मेसी कंपनियों के विज्ञापनों को तुरंत हटाया जाए।

अन्यथा कारोबार पर पड़ते इसके बुरे प्रभाव को ध्यान में रखते हुए एआईओसीडी व पीसीए की अगुवाई में देशभर के केमिस्टों को सड़कों पर उतरने के लिए मजबूर होना पड़ेगा।

Source BHASKAR

%d bloggers like this: