ढाई माह बाद स्टेशन पर लौटे 54 कुली फिर भी नहीं मिला काम, बोले- मांगकर खाना पड़ा, कर्ज भी हुआ

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, लुधियाना (पंजाब)
Updated Mon, 01 Jun 2020 06:12 PM IST

ख़बर सुनें

लॉकडाउन की वजह से कई लोगों को अपनी नौकरी गंवानी पड़ी तो वहीं लाखों लोगों ने पलायन का दंश झेला। बड़ी तादाद में पंजाब से भी लोगों ने पलायन किया। कई लोगों के सामने अभी भी रोजगार का संकट खड़ा है। अनलॉक- वन का एलान केंद्र सरकार ने कर दिया तो वहीं पंजाब सरकार ने भी लोगों को कई रियायतें दी हैं। जिंदगी धीरे-धीरे पटरी पर आ रही है। लेकिन लोगों की दुश्वारियां अभी कम नहीं हुई हैं।एक जून से देशभर में 200 स्पेशल ट्रेनों को शुरू किया गया। कई ट्रेनें पंजाब से भी दौड़ना शुरू हो गई हैं। ऐसे में रेलवे स्टेशन में कुछ काम मिल जाएगा, इसी आस से पंजाब के लुधियाना रेलवे स्टेशन पर 54 कुली पहुंचे लेकिन उनकी उम्मीदों को झटका लगा। ये सभी यहां पर 11-12 साल से काम कर रहे हैं। 
 

ढाई महीने के बाद आज (एक जून) एक बार फिर काम पर लौटे। स्टेशन पर सुबह सात बजे तक सभी कुली पहुंच गए थे। लेकिन काम न मिलने की वजह से घर वापस लौटना पड़ा। इन कुली का दर्द आप ऐसे समझ सकते हैं कि लॉकडाउन के दौरान इन्हें लोगों से मांगकर भी खाना पड़ा। कुछ के सिर पर कर्ज भी हो गया है। सोमवार को आस लेकर आए थे कि कुछ काम मिल जाएगा पर नहीं मिला और घर लौटना पड़ा। 

लुधियाना से सोमवार को चलेंगी 20 स्पेशल ट्रेनें
लुधियाना से एक जून को लगभग 20 स्पेशल ट्रेनें चलेंगी। सामान्य तौर पर यहां 150 ट्रेनें चलती थीं। सरकार की गाइडलाइंस का पालन करते हुए अभी सभी जरूरी रूटों के लिए ट्रेनें चलाई गई हैं। – तरुण कुमार, डायरेक्टर, लुधियाना रेलवे।

लॉकडाउन की वजह से कई लोगों को अपनी नौकरी गंवानी पड़ी तो वहीं लाखों लोगों ने पलायन का दंश झेला। बड़ी तादाद में पंजाब से भी लोगों ने पलायन किया। कई लोगों के सामने अभी भी रोजगार का संकट खड़ा है। अनलॉक- वन का एलान केंद्र सरकार ने कर दिया तो वहीं पंजाब सरकार ने भी लोगों को कई रियायतें दी हैं। जिंदगी धीरे-धीरे पटरी पर आ रही है। लेकिन लोगों की दुश्वारियां अभी कम नहीं हुई हैं।

एक जून से देशभर में 200 स्पेशल ट्रेनों को शुरू किया गया। कई ट्रेनें पंजाब से भी दौड़ना शुरू हो गई हैं। ऐसे में रेलवे स्टेशन में कुछ काम मिल जाएगा, इसी आस से पंजाब के लुधियाना रेलवे स्टेशन पर 54 कुली पहुंचे लेकिन उनकी उम्मीदों को झटका लगा। ये सभी यहां पर 11-12 साल से काम कर रहे हैं। 

 

ढाई महीने के बाद आज (एक जून) एक बार फिर काम पर लौटे। स्टेशन पर सुबह सात बजे तक सभी कुली पहुंच गए थे। लेकिन काम न मिलने की वजह से घर वापस लौटना पड़ा। इन कुली का दर्द आप ऐसे समझ सकते हैं कि लॉकडाउन के दौरान इन्हें लोगों से मांगकर भी खाना पड़ा। कुछ के सिर पर कर्ज भी हो गया है। सोमवार को आस लेकर आए थे कि कुछ काम मिल जाएगा पर नहीं मिला और घर लौटना पड़ा। लुधियाना से सोमवार को चलेंगी 20 स्पेशल ट्रेनें
लुधियाना से एक जून को लगभग 20 स्पेशल ट्रेनें चलेंगी। सामान्य तौर पर यहां 150 ट्रेनें चलती थीं। सरकार की गाइडलाइंस का पालन करते हुए अभी सभी जरूरी रूटों के लिए ट्रेनें चलाई गई हैं। – तरुण कुमार, डायरेक्टर, लुधियाना रेलवे।

Source AMAR UJALA

%d bloggers like this: