जेसिका लाल हत्याकांड: तिहाड़ जेल से रिहा हुआ मनु शर्मा, समय से पहले हुई रिहाई

नई दिल्ली: जेसिका लाल हत्याकांड के मुख्य आरोपी रहे मनु शर्मा उर्फ सिद्दार्थ वशिष्ठ की सजा दिल्ली के LG ने माफ कर दी है. मनु शर्मा पर साल 1999 में मॉडल जेसिका की हत्या करने का आरोप था. 

मनु शर्मा समेत 19 दोषियों की सजा माफी की सिफारिश SRB यानी Sentence Review Board ने की थी, जिसमें मनु शर्मा के अच्छे चाल चलन को मुख्य आधार बनाया गया था. SRB की मीटिंग 11 मई को हुई थी, जिसमें दिल्ली जेल अधिकारियों समेत दिल्ली पुलिस और दिल्ली सरकार के लोग भी शामिल थे. उसी में मनु शर्मा समेत सभी 19 लोगों की सजा माफ करने का फैसला लिया गया जिसके बाद 28 मई को मनु शर्मा को रिहा करने का आदेश जारी हुआ और 1 जून को मनु शर्मा को दिल्ली की तिहाड़ जेल से रिहा कर दिया गया.  

मनु शर्मा साल 1999 में अपने दोस्तों विकास यादव, अमरदीप गिल और आलोक खन्ना के साथ दिल्ली के महरौली में बिना रमानी के रेस्टोरेंट में पार्टी में गया था जहां शराब को लेकर मनु शर्मा की जेसिका लाल के साथ झगड़ा हुआ था और मनु ने जोसिका की गोली मारकर हत्या कर दी थी.  

ये भी देखें- 

इस हादसे के बाद मनु शर्मा और बाकी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया था लेकिन साल 2006 में निचली अदालत ने आरोपियों को सबूतों के अभाव में बरी कर दिया था. लेकिन इस हाईप्रोफाइल केस को लेकर काफी हंगामा हुआ था, जिसके बाद दिल्ली हाईकोर्ट में निचली अदालत के फैसले के खिलाफ सुनवाई हुई और दिसंबर 2006 में ही मनु शर्मा को उम्रकैद की सजा सुनाई गई थी और सुप्रीम कोर्ट ने भी अप्रैल 2010 में इस फैसले को सही ठहराया था.  

हालांकि इससे पहले भी मनु शर्मा का केस SRB के पास जल्दी रिहाई के लिए गया था, लेकिन अलग-अलग कारणों से फैसला मनु शर्मा के खिलाफ गया. मनु शर्मा हरियाणा के नेता विनोद शर्मा के बेटे हैं, विनोद शर्मा कांग्रेसी नेता और हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा के बेहद करीबी हैं. (इनपुट: राकेश सिंह) 

[source_ZEE NEWS]
%d bloggers like this: