गलत टाइपिंग पॉश्चर से हो दर्द तो आजमाएं ये उपाय

वर्क फ्रॉम होम के तहत आपको कभी बैड पर तो कभी सोफे पर बैठकर काम करना पड़ता है, जिससे टाइपिंग पॉश्चर बिगड़ता है और इसके कारण कमर व गर्दन में दर्द संबंधी विभिन्न परेशानियां हो सकती हैं। ऐसी परेशानियों से बचने के लिए आप इन टिप्स का इस्तेमाल कर सकते हैं-

वर्क फ्रॉम होम के तहत आपको कभी बैड पर तो कभी सोफे पर बैठकर काम करना पड़ता है, जिससे टाइपिंग पॉश्चर बिगड़ता है और इसके कारण कमर व गर्दन में दर्द संबंधी विभिन्न परेशानियां हो सकती हैं। ऐसी परेशानियों से बचने के लिए आप इन टिप्स का इस्तेमाल कर सकते हैं-

रखें एक्सटर्नल की-बोर्ड
लैपटॉप पर यदि आपको लंबे समय तक काम करना है और कोई सही टेबल नहीं है तो बेहतर है कि आप एक्सटर्नल की-बोर्ड का इस्तेमाल करें। लैपटॉप में ज्यादा देर तक काम करने से आपको गर्दन, कंधों और पीठ में दर्द की शिकायत होने लगती है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि लैपटॉप की स्क्रीन और की-बोर्ड मिले हुए होते हैं, जिससे टाइप करने के लिए नीचे देखना पड़ता है। इसका एक ही हल है और वह है एक्सटर्नल की-बोर्ड का इस्तेमाल करें।

लैपटॉप को रखें ऊंची जगह पर
हम में से ज्यादातर लोग लैपटॉप को डाइनिंग टेबल, सेंटर टेबल या बिस्तर पर रखकर काम करते हैं जिससे आपकी गर्दन को काफी झुकना पड़ता है। इसके लिए आप किताबों की सहायता से स्टैंड बनाकर लैपटॉप को ऊंचा रख सकते हैं। अगर आप बैड पर बैठकर काम करना चाहते हैं, तो लैपटॉप के नीचे कुशन रख सकते हैं। किसी भी पॉजीशन को बदलने से पहले उस पर थोड़ा विचार करें और उसे अपनाएं। आप उसमें कंफर्ट महसूस नहीं कर रहे है तो तुरंत पॉजीशन बदल लें।







Show More









Source

%d bloggers like this: