कोरोना: लगातार दूसरे दिन रिकॉर्ड बढ़ोतरी, देश में 1.3 लाख के करीब पहुंची मरीजों की संख्या

नई दिल्ली:  भारत में शनिवार को कोविड-19 के करीब छह हजार नए मरीज सामने आने के साथ कुल संक्रमितों की संख्या 1.30 लाख के करीब पहुंच गई है. पिछले एक महीने में करीब एक लाख से अधिक लोग संक्रमित हुए और तीन हजार से अधिक लोगों की इसके कारण जान गई. देश में कोरोना वायरस से संक्रमण के नए मामलों में शनिवार को लगातार दूसरे दिन रिकॉर्ड बढ़ोतरी हुई. देश में 1 मई से अब तक कोरोना के 94 हजार केस सामने आए हैं. 

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक देश में कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 1.25 लाख हो गई है. हालांकि, न्यूज एजेंसी भाषा के मुताबिक, देश में कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 1,28,840 और कुल मृतकों की संख्या 3,782 हो गई है. इसके अनुसार अब तक 54,000 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं जबकि 71,000 से अधिक लोग लोगों का इलाज चल रहा है. 

इस बीच, सात राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के 11 शहरी क्षेत्रों में ही देश में सामने आए कोविड-19 के 70 प्रतिशत मरीज रहते हैं. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि ये 11 शहरी क्षेत्र महाराष्ट्र, तमिलनाडु, गुजरात, दिल्ली, मध्यप्रदेश, पश्चिम बंगाल और राजस्थान के हैं जहां पर 70 प्रतिशत मरीजों का इलाज चल रहा है. 

सिक्किम में कोविड-19 का पहला मामला सामने आया 
सिक्किम में कोविड-19 का पहला मामला सामने आया है. दिल्ली से लौटे 25 वर्षीय छात्र के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है. भारत में कोरोना वायरस से संक्रमण का पहला मामला 30 जनवरी को आया था किंतु तब से अब तक सिक्किम इसके संक्रमण से पूरी तरह मुक्त था. 
 
भारत इस समय दुनिया में कोरोना वायरस से सर्वाधित संक्रमित 11 वां देश है किंतु यहां पर अस्पताल में भर्ती मरीजों की संख्या स्पेन, इटली, जर्मनी, तुर्की और ईरान सहित शीर्ष दस संक्रमित देशों में से कुछ देशों से अधिक है. भारत संक्रमितों लोगों की संख्या के मामले में ईरान को पीछे छोड़ने की ओर तेजी से अग्रसर है जहां कुल संक्रमितों की संख्या करीब 1.33 लाख है. 

चीन में पिछले साल कोरोना वायरस से संक्रमण का पहला मामला आने के बाद से अब तक दुनिया में 52 लाख से अधिक लोग इस वायरस से संक्रमित हो चुके हैं जबकि 3.38 लाख अपनी जान गंवा चुके हैं। इस दौरान 20 लाख लोग संक्रमण मुक्त भी हुए हैं. चीन में शनिवार को कोविड-19 का एक भी मामला सामने नहीं आया। हालांकि, हाल के सप्ताह में लॉकडाउन में ढील के बाद कई देशों में संक्रमण के नए मामलों में बढ़ोतरी हुई है. 

भारत में राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन 25 मार्च से लागू है और यह 31 मई तक जारी रहेगा. हालांकि, 18 मई को शुरू लॉकडाउन के चौथे चरण में कई छूट दी गई है. इसके अलावा सोमवार को घरेलू विमान सेवा भी चरणबद्ध तरीके से शुरू होने जा रही है. 

अगले 10 दिन में चलेंगी 2600 ट्रेन
रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष वीके यादव ने शनिवार को बताया कि एक मई से चलाई जा रही श्रमिक विशेष रेलगाड़ियों से अब तक देश के विभिन्न हिस्सों में फंसे 36 लाख प्रवासी कामगारों को उनके गृह राज्य पहुंचाया गया है. उन्होंने कहा कि अगले 10 दिनों में 36 लाख और प्रवासी कामगारों को गंतव्य स्थल तक पहुंचाने के लिए 2,600 रेलगाड़ियों का परिचालन किया जाएगा. 

कोरोना वायरस से महाराष्ट्र सबसे अधिक प्रभावित 
कोरोना वायरस से महाराष्ट्र सबसे अधिक प्रभावित राज्य है. इसके अलावा गुजरात, दिल्ली, मध्यप्रदेश, राजस्थान उन राज्यों में शामिल है जहां सबसे अधिक मामले आ रहे हैं. महाराष्ट्र में शनिवार को कोरोना वायरस से संक्रमण के 2,608 नए मामले सामने आए और 60 लोगों की मौत हुई. इसके साथ ही राज्य में कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 47,190 हो गई जबकि 1,577 लोगों ने जान गंवाई है. अभी तक महाराष्ट्र में अधिकारी सहित कम से कम 18 पुलिसकर्मियों ने कोरोना वायरस से अपनी जान गंवाई है. 

तमिलनाडु में शनिवार को कोविड-19 के 759 नए मामले सामने आए. वहीं 75 वर्षीय एक महिला सहित पांच और लोगों की मौत के साथ राज्य में कोरोना वायरस के संक्रमण से जान गंवाने वालों की संख्या 103 हो गई है. नए संक्रमितों में दूसरे देशों और राज्यों से आने वाले प्रवासी भी शामिल है.  

केरल में भी लगातार बढ़ रही संक्रमितों की संख्या 
केरल में भी संक्रमितों की संख्या लगातार बढ़ रही है. यहां पर 62 नए मामले सामने आए हैं जिनमें से 49 वे लोग हैं जो विदेश या दूसरे राज्यों से लौटे हैं. केरल में 91 हजार से अधिक लोगों को निगरानी में रखा गया था. बता दें कि देश में कोरोना वायरस से संक्रमण का पहला मामला केरल में सामने आया था लेकिन दूसरे राज्यों और विदेश से प्रवासियों के लौटने तक प्रशासन संक्रमण दर को नियंत्रित करने में कामयाब हुआ था. 

विशेषज्ञों ने आगाह किया है कि प्रवासियों और विदेश से आ रहे लोगों की वजह से संक्रमण बढ़ सकता है क्योंकि लक्षण नहीं होने के चलते उनमें से सभी को संस्थागत आइसोलेशन में नहीं रखा जाएगा. कर्नाटक में शनिवार को एक दिन में कोविड-19 के सबसे अधिक मामले सामने आए. यहां पर करीब 200 नए मामले आने के साथ कुल संक्रमितों की संख्या 1,959 हो गई है. राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में 591 नए मामलों के साथ कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 12,910 हो गई है. दिल्ली में कोविड-19 से मरने वालों की तादाद भी बढ़कर 231 हो गई है. 

ये भी देखें: 

[source_ZEE NEWS]
%d bloggers like this: