कोरोना: देश में मरीजों की संख्या 1.47 लाख पहुंची, इन 3 राज्यों में तेजी से बढ़ रहे मामले

नई दिल्ली: देश में कोरोना वायरस से संक्रमित हुए लोगों की संख्या मंगलवार को 1.47 लाख पहुंच गई. वहीं बड़ी संख्या में प्रवासी कामगारों के अपने-अपने राज्य लौटने से बिहार, पश्चिम बंगाल, असम और ओडिशा में कोविड-19 मरीजों की संख्या में तेजी से बढ़ोतरी हो रही है. 

पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस संक्रमण से सबसे ज्यादा प्रभावित महाराष्ट्र, गुजरात और तमिलनाडु में भी बड़ी संख्या में नए मामले सामने आए हैं. वहीं दिल्ली, पंजाब, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, केरल, कर्नाटक, आंध्रप्रदेश सहित अन्य राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों से भी नए मामले आए हैं. कुछ विशेषज्ञों ने सलाह दी है कि प्रवासी श्रमिक लौटकर जिन क्षेत्रों में जा रहे हैं वहां सघन निगरानी की जाए. हालांकि, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय का कहना है कि देश में इलाज के बाद कोरोना वायरस संक्रमण से मुक्त होने वाले लोगों की दर बढ़ रही है और यह कई देशों के मुकाबले बेहतर है. 

प्रेस कॉन्फ्रेंस में स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने कहा, “हमारे देश में लोगों के संक्रमण मुक्त होने की दर बेहतर हो रही है और फिलहाल में यह 41.61 प्रतिशत है. कोविड-19 से मरने वालों का आंकड़ा 15 अप्रैल के 3.3 प्रतिशत से कम होकर फिलहाल 2.87 प्रतिशत हो गया है जो दुनिया में सबसे कम है.” 

मंत्रालय ने सुबह के बुलेटिन में कहा कि देश में अभी तक कोरोना वायरस संक्रमण से 4,167 लोगों की मौत हुई है जबकि अभी तक 1,45,380 लोग इससे संक्रमित हुए हैं. सोमवार सुबह आठ बजे से मंगलवार सुबह आठ बजे तक देश में कोविड-19 के 6,535 नए मामले आए हैं और संक्रमण से 146 लोग की मौत हुई है. फिलहाल देश में कोरोना वायरस संक्रमण के लिए 80,000 से ज्यादा लोगों का इलाज चल रहा है जबकि 60,000 से ज्यादा लोग इलाज के बाद संक्रमण मुक्त होकर घर लौट चुके हैं. 

न्यूज एजेंसी भाषा अनुसार, देश में अभी तक कुल 1,47,505 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हुए हैं जबकि संक्रमण से 4,268 लोग की मौत हुई है। वहीं इलाज के बाद 63,500 लोग कोरोना वायरस संक्रमण से मुक्त हुए हैं. पिछले तीन सप्ताह में जिन पांच राज्यों में कोविड-19 के मामले तेजी से बढ़े हैं, केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने उन्हें कंटेनमेंट एरिया के ट्रेंड का विश्लेषण करने और स्थिति में सुधार करने को कहा है. ये पांच राज्य हैं उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड, छत्तीसगढ़ और मध्यप्रदेश. 

भारत अब कोरोना वायरस से सर्वाधिक प्रभावित 10 देशों में शामिल 
भारत अब कोरोना वायरस से सर्वाधिक प्रभावित 10 देशों में शामिल है और विशेषज्ञों का कहना है कि जांच क्षमता में बढ़ोतरी के साथ ही यात्रा प्रतिबंधों में ढील तथा प्रवासियों की यात्रा जैसी चीजें अधिक मामले सामने आने के कारणों में शामिल हैं.

एम्स के निदेशक रणदीप गुलेरिया के अनुसार, मामलों में वर्तमान बढ़ोतरी अधिकतर ‘हॉटस्पॉट’ क्षेत्रों से सामने आ रही है, लेकिन आगामी दिनों में अधिक लोगों के यात्रा करने से कोविड-19 के मामलों में और बढ़ोतरी की संभावना है. गुलेरिया ने यह भी कहा कि क्योंकि अब जांच क्षमता में वृद्धि हो गई है, इसलिए भी अधिक मामले सामने आ रहे हैं.

दिल्ली में कोविड-19 से अभी तक 288 लोगों की मौत हुई है जबकि 412 नए मरीज सामने आने के साथ ही शहर में कोरोना वायरस से संक्रमित हुए लोगों की संख्या 14,465 पहुंच गई है. महाराष्ट्र में आज कोविड-19 के 2091 नये मामले सामने आने के साथ प्रदेश में कुल संक्रमितों की संख्या 54,758 हो गई है। राज्य में कोरोना वायरस से 97 और लोगों की मौत के साथ महामारी से जान गंवाने वालों की संख्या 1,792 तक पहुंची. गुजरात में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस के 361 नए मामले सामने आए हैं जिससे कुल मामले बढ़कर 14,829 हो गए वहीं 27 और मरीजों की मौत होने से मृतक संख्या बढ़कर 915 हो गई है. 

[source_ZEE NEWS]
%d bloggers like this: