Advertisements

कश्मीर: कोरोना वारियर्स की मदद के लिए शख्स ने छोड़ी सरकारी नौकरी, गरीबों के घर जाकर पहुंचाता है दवाइयां

श्रीनगर: कोरोना महामारी के बीच श्रीनगर के एक युवा ने कई लोगों के लिए एक मिसाल पेश की है. यह युवा अब तक फ्रंटलाइन पर काम कर रहे डॉक्टर और हेल्थ वर्कर्स के बीच हजारों की तादाद में मास्क, पीपीई सूट और सर्जिकल सूट बांट चुका है. इसके अलावा ये युवा गरीबों को दवाई भी उनके घरों तक पहुंचा रहा है.  

सरकारी नौकरी छोड़कर समाज सेवा कर रहे इस युवा का नाम मालिक आसिफ है. मालिक श्रीनगर के उन लोगों में हैं, जिन्होंने ने इस महामारी में पीड़ित लोगों तक मदद का हाथ बढ़ाने की ठानी है. मालिक अपनी टीम के साथ सुबह से शाम तक महामारी से पीड़ित लोगों और इस लड़ाई को लड़ने वाले फ्रंटलाइन वारियर्स की सेवा करते हैं.

वह श्रीनगर के महजोर नगर इलाके में अपने ही घर पर डॉक्टर और हेल्थ कर्मचारियों के लिए मास्क, पीपीई सूट और सर्जिकल सूट बनाते हैं. मालिक की मानें तो वह कश्मीर के कई अस्पतालों और हेल्थसेंटर्स में 35 हजार मास्क, 18 सर्जिकल सूट और 9 हजार पीपीई किट बांट चुके हैं. 

ये भी पढ़ें- कोरोना: सिंगापुर में Zoom पर लगी अदालत, दोषी को सुनाई गई सजा-ए-मौत की सजा

मालिक आसिफ ने बताया कि इस महामारी के शुरू होते ही पहले फेज में उन्होंने मास्क, पीपीई सूट और सर्जिकल सूट बनाए और अलग अलग अस्पतालों में फ्री में बांट रहे हैं. उन्होंने कहा, ‘हमने हजारों की तादाद में यह बांटे हैं. दूसरे फेज में हम अब उन लोगों तक पहुंच रहे हैं, जिनके पास खाने को कुछ नहीं है और ना ही दवाइयां हैं.’

मालिक और उनकी टीम ने श्रीनगर के कुछ इलाकों में सर्वे किया है और जरूरतमंदों की लिस्ट बनाई है. ये टीम उसी लिस्ट के मुताबिक जरूरतमंदों तक पहुंच रही है. वह आम लोगों से धन इकट्ठा कर पीड़ित लोगों तक यह मदद पहुंचा रहे हैं. सरकार भी ऐसी संस्थाओं की तारीफ करती है, जो बिना लालच के यह समाज सेवा करते हैं. 

जिला कमिश्नर शाहिद चौधरी ने कहा, ‘बहुत सारी ऐसी संस्था हैं, जो हमारे साथ काम कर रही हैं. ये सब अच्छा काम कर रहे हैं. ये करीब 20 एनजीओ हैं और हम भी उन्हें पूरा सहयोग दे रहे हैं.’

LIVE TV-

 

[source_ZEE NEWS]