कर्नाटक में फिर सियासी संकट! डिप्टी CM ने विधायकों की नाराजगी के सवाल पर दिया ये जवाब

बेंगलुरु: कर्नाटक में फिर से सियासी संकट मंडराने लगा है. पिछले एक हफ्ते से खबरें आ रही है कि बीजेपी के 20 विधायक बगावती रुख अख्तियार किए गए हैं. नाराज विधायकों के समूह ने रमेश कट्टी के आवास पर बैठक की, ऐसी चर्चा कर्नाटक के सियासी गलियारों में हैं. यही सवाल जब आज डिप्टी सीएम डॉ. सीएन अश्वथ नारायण से पूछा गया तो उनका कहना था कि कोई भी येदियुरप्पा सरकार को अस्थिर करने में सफल नहीं होगा और वह अपना बचा हुआ तीन वर्ष का कार्यकाल पूरा करेगी. 

नारायण ने मैसूर में संवाददाताओं से कहा, “कोई भी सरकार को अस्थिर नहीं कर सकता. यह स्थिर है. हम अपना बाकी बचा तीन साल का कार्यकाल पूरा करेंगे और आगे भी हमारी पार्टी सत्ता में रहेगी.” डिप्टी सीएम ने कहा, “बीजेपी में विद्रोह और पार्टी विरोधी गतिविधियों के लिए कोई स्थान नहीं है. कुछ लोगों को उम्मीदें होंगी लेकिन जहां तक पार्टी का सवाल है, यहां ऐसी चीजों के लिए कोई गुंजाइश नहीं है.” 

सूत्रों के मुताबिक, रमेश कट्टी राज्यसभा चुनाव में जीत दर्ज करना चाहते हैं. उत्तरी कर्नाटक के विधायकों ने राज्य से राज्यसभा की चार सीटों के लिए आगामी चुनाव की पृष्ठभूमि में बेलगावी जिले के बेल्लाद बागेवाडी में पूर्व सांसद रमेश कट्टी के आवास पर गुरुवार शाम को मुलाकात की थी. ऐसा माना जा रहा है कि विधायक उमेश कट्टी के भाई रमेश कट्टी को चार में से एक सीट दिलाने के लिए उनके समर्थन में यह बैठक की गई. 

बैठक में शामिल कुछ विधायक कथित तौर पर मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा के कामकाज को लेकर नाखुशी जाहिर कर चुके हैं. बैठक में शामिल होने वाले विधायकों में शामिल विजयपुरा के एमएलए बीपी यतनाल ने मुख्यमंत्री के समक्ष प्रतिवेदन के बावजूद काम नहीं होने को लेकर निराशा जताई.

(इनपुट: भाषा से)

ये भी देखें:

 

 

[source_ZEE NEWS]
%d bloggers like this: