इन 2 राज्यों को छोड़कर पूरे देश में आज से उड़ानें शुरू, मुंबई-हैदराबाद-चेन्नई में सीमित परिचालन

नई दिल्ली: पश्चिम बंगाल के कोलकाता और बागडोगरा तथा आंध्र प्रदेश के विशाखापत्तनम और विजयवाड़ा हवाई अड्डों से सोमवार को घरेलू उड़ानों का परिचालन शुरू नहीं होगा. हालांकि मुंबई, चेन्नई और हैदराबाद के हवाई अड्डों से सीमित उड़ानों का परिचालन शुरू होगा. एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी ने रविवार को इसकी जानकारी दी. 

न्यूज एजेंसी ANI के मुताबिक, त्रिपुरा में भी विमान सेवा 25 मई से शुरू नहीं हो पाएगी. इसकी वजह यह है कि अगरतला से ज्यादातर उड़ानें कोलकाता से कनेक्ट हैं. कोलकाता में एयरपोर्ट पर सेवाएं 27 मई तक उपलब्ध नहीं हैं. ऐसे में अगरतला से सभी उड़ानें रद्द रहेंगी,  

कोरोना वायरस महामारी की रोकथाम के लिए पूरे देश में 25 मार्च से लॉकडाउन लागू है. इसके कारण तब से ही उड़ानों का कॉमर्शियल परिचालन बंद है. करीब दो महीने बंद रहने के बाद सोमवार से देश में घरेलू यात्री उड़ानें पुन: शुरू होने जा रही हैं. उड़ानों का परिचालन पुन: शुरू होने से एक दिन पहले नागर विमानन मंत्रालय की विभिन्न संबंधित पक्षों से पूरे दिन बैठकें होती रहीं. इसका कारण कोरोना वायरस महामारी के मद्देनजर उड़ानों से आने वाले काफी सारे यात्रियों को संभाल पाने में कई राज्यों द्वारा अक्षमता जाहिर करना है. 

अधिकारियों ने कहा कि अत: इस कारण रविवार की शाम को यह निर्णय लिया गया कि पश्चिम बंगाल के कोलकाता और बागडोगरा हवाई अड्डे से गुरुवार से रोजाना सिर्फ 20 उड़ानों का परिचालन शुरू होगा. उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल के इन दो हवाई अड्डों से सोमवार से बुधवार के बीच किसी भी उड़ान का परिचालन नहीं होगा. 

नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने रविवार रात ट्विटर पर कहा, “यह देश में नागरिक उड़ानों को पुन: शुरू करने के संबंध में विभिन्न राज्यों के साथ गहन बातचीत का दिन रहा. आंध्र प्रदेश और पश्चिम बंगाल को छोड़कर कल (सोमवार) से पूरे देश में घरेलू उड़ानों की पुन: शुरुआत की जाएगी.  आंध्र प्रदेश में उड़ानों की शुरुआत 26 मई से और पश्चिम बंगाल में शुरुआत 28 मई से होगी.” 

 

 

सरकारी अधिकारियों ने कहा कि हैदराबाद हवाई अड्डा सोमवार से रोजाना केवल 30 घरेलू उड़ानों का परिचालन करेगा. इनमें से आधी उड़ानें आने वाली होंगी और आधी जाने वाली, अधिकारियों ने कहा कि विजयवाड़ा और विशाखापत्तनम हवाई अड्डों पर सोमवार को कोई घरेलू सेवा नहीं होगी.  वे मंगलवार से लॉकडाउन के पहले के स्तर की तुलना में सिर्फ 20 प्रतिशत उड़ानों का परिचालन करेंगे. 

पुरी ने कहा, “राज्य सरकार के अनुरोध के अनुसार 26 मई से आंध्र प्रदेश में परिचालन सीमित स्तर पर शुरू होगा.” उन्होंने कहा, “तमिलनाडु के लिए चेन्नई में अधिकतम 25 उड़ानों का आगमन होगा, लेकिन प्रस्थान की संख्या की कोई सीमा नहीं है. तमिलनाडु के अन्य हवाई अड्डों के लिए देश के अन्य हिस्सों की तरह ही परिचालन होगा.”

इस निर्णय के बाद भारतीय विमानन कंपनियों को उन शहरों की कई उड़ानें रद्द करनी होंगी, जिनके लिये परिचालन को टाला गया है या कम किया गया है. विमानन कंपनियों ने दो-तीन दिन पहले से ही टिकटों की बुकिंग शुरू कर दी थी. 

ये भी देखें:

 

[source_ZEE NEWS]
%d bloggers like this: