आइसोलेशन वार्ड से लौटे बुजुर्ग को कोरोना कहकर चिढ़ाने लगे लोग, विरोध करने पर पीटकर जख्मी किया

  • उत्तराखंड से लौटे थे कादियां नगर के चीमा गांव के निवासी जोगिन्द्र सिंह
  • गांव वापस आने के बाद उन्हें आइसोलेशन वार्ड में रखा गया था

दैनिक भास्कर

Jun 03, 2020, 08:33 AM IST

कादियां. कोरोना महामारी के कारण परेशान लोगों के साथ अब समाज में भी भेदभाव होना शुरू हो गया है। ऐसा ही एक मामला गुरदासपुर जिले में सामने आया है, जहां आइसोलेशन वार्ड से लौटे बुजुर्ग को लोगों ने कोरोना-कोरोना कहकर चिढ़ाना शुरू कर दिया। इतना ही नहीं जब युवक ने इस बात का विरोध किया तो उस पर हमला कर उसे जख्मी भी कर दिया गया। 

जिले के कादियां नगर के चीमा गांव के निवासी जोगिन्द्र सिंह पुत्र चन्न सिंह उत्तराखंड की एक कंपनी में काम करते हैं। लॉकडाउन के कारण जोगिन्द्र कुछ दिनों पहले अपने गांव वापस लौट आए थे। गांव वापस आने के बाद उन्हें आइसोलेशन वार्ड में रखा गया था।

आइसोलेशन का समय पूरा करने के बाद जब वह अपने गांव वापस लौटे तो लोगों ने उन्हें कोरोना-कोरोना कहकर चिढ़ाना शुरू कर दिया। कुछ दिनों तक जोगिन्द्र ने इसे नजरअंदाज किया, लेकिन लगातार ऐसी घटनाओं के बाद उन्होंने विरोध करना शुरू किया, जिसके बाद लोगों ने 28 मई की रात मारपीट कर उन्हें जख्मी कर दिया।

डॉक्टरों ने धोखे से गलत कागज पर करवा लिए साइन

जोगिन्द्र ने बताया कि 28 मई की रात कुछ लोग उनके घर में जबरन दाखिल हो गए और जान से मारने की धमकी देने लगे, विरोध करने पर उन्होंने हथियारों से हमला कर दिया। घायल अवस्था में जोगिन्द्र सिविल अस्पताल हरचोवाल पहुंचे।

यहां डॉक्टरों ने उनके घाव पर टांके लगाए और उनके बेटों से धोखे से ऐसे कागज पर साइन करवा लिए, जिसमें लिखा था कि उन्हें आरोपियों पर कोई कार्रवाई नहीं करनी है। पुलिस के पास मामला पहुंचने पर कादियां थाने ने दोनों पक्षों को 29 मई को थाने में बुलाया, लेकिन आरोपियों ने माफी मांगने से इनकार कर दिया।

Source BHASKAR

%d bloggers like this: