अहमदाबाद: फ्रंटलाइन वॉरियर्स को तेजी से अपनी चपेट में ले रहा कोरोना, 523 पॉजिटिव

अहमदाबाद: देश समेत दुनिया भर में कोरोना वायरस का कहर है. कोरोना से महाराष्ट्र और गुजरात सबसे अधिक प्रभावित राज्य हैं. गुजरात में कोरोना के मामले अब तक 15 हजार के आंकड़े को पार कर चुके हैं जिसमें से अधिक अहमदाबाद में 11 हजार मामले दर्ज किये गए हैं. अहमदाबाद में फ्रंट लाइन वारियर्स पूरे जी जान से कोरोना को हराने में लगे हुए है जिसमें इस दौरान ऐसे कई वॉरियर्स कोरोना के शिकार हो गए.  शहर में अब तक 197 डॉक्टर्स कोरोना संक्रमित हो चुके है. जिसमे निजी अस्पतालों के 38 डॉक्टर पॉजिटिव पाए गए है तो वहीं सरकारी अस्पतालों के 150 से अधिक डॉक्टर्स कोरोना संक्रमित पाए गए हैं. 

सरकारी अस्पतालों में जूनियर और रेजिडेंट डॉक्टर्स शामिल हैं. सीनियर डॉक्टर्स कोरोना वार्ड में नहीं जाते, इस आरोप को जूनियर और रेजिडेंट डॉक्टर्स के पॉजिटिव आने की संख्या साबित कर रही है. सीनियर डॉक्टर्स केवल फोन पर सलाह और मार्गदर्शन देते हैं. जूनियर और रेजिडेंट डॉक्टर्स कोरोना पॉजिटिव होने के कारण उनके परिवार के सदस्य भी पॉजिटिव पाए गए हैं. इनके माता पिता और मासूम बच्चों के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के किस्से सामने आते रहे हैं. सीनियर डॉक्टर्स के अपने चैम्बर में ही रहने से 95 फीसदी जूनियर डॉक्टर्स पॉजिटिव पाए गए हैं. 

अहमदाबाद के सिविल कैंपस में 34 डॉक्टर्स, सिविल अस्पताल के 75 डॉक्टर्स, एलजी अस्पताल के 23 डॉक्टर्स, सोला सिविल अस्पताल के 5, सरदार वल्लभ पटेल अस्पताल के 17, यूएन मेहता के 3, किडनी अस्पताल के 1, एएसआईएस के भी एक डॉक्टर्स पॉजिटिव पाए गए हैं तो बाकी 38 निजी अस्पताल के डॉक्टर्स पॉजिटिव हैं.

डॉक्टर्स ही नहीं, पुलिस वाले भी कोरोना के शिकार

फ्रंट लाइन वारियर्स में केवल डॉक्टर्स ही नहीं पुलिस वाले भी कोरोना की चपेट में आ गए है. शहर की सड़कों पर दिन रात लॉक डाउन का पालन करवाने वाली पुलिस भी कोरोना की शिकार हो गई है. अहमदाबाद में अब तक 326 पुलिसकर्मी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं जिसमें से 247 पुलिसकर्मी ठीक हो गए हैं तो 79 पुलिसकर्मियों के कोरोना एक्टिव केस हैं. 79 में से 61 अहमदाबाद  पुलिस के हैं तो अन्य 18 जवान अलग-अलग फाॅर्स के हैं. जिससे कुल मिला कर शहर में 523 फ्रंट लाइन वारियर्स कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. 

ये भी देखें:

[source_ZEE NEWS]
%d bloggers like this: