अमृतसर की होलसेल कपड़ा मार्केट पूरी तरह बंद, जालंधर की सब्जी मंडी में रिटेल फड़ियों पर हो रही राजनीति; पठानकोट में होटल मालिक भी नाराज

दैनिक भास्कर

Jun 03, 2020, 12:24 PM IST

पंजाब में लॉकडाउन-5 के दूसरे दिन बुधवार तक कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 2474 हो गया है। मंगलवार को लुधियाना और अमृतसर में दो मौतों के साथ अब तक मरने वालों की संख्या भी 51 हो गई है। इसी बीच पाबंदियों का लोगों की जिंदगी की पर खासा असर पड़ रहा है। कहीं दुकानदारों को सरकार के खिलाफ खड़े देखा जा सकता है तो कहीं कर्मचारी वर्ग में नाराजगी साफ दिखाई दे रही है। पटियाला में राज्यभर के ठेके पर काम कर रहे पावरकॉम कर्मचारियों ने तंगहाली का दुखड़ा सुनाया तो गुरदासपुर में लॉकडाउन के बीच लोगों की मदद करने वाले एक शख्स को जिला प्रशासन की तरफ से सम्मानित किया गया है।
अमृतसर के होलसेल कपड़ा कारोबारियों की प्रशासन से नाराजगी के चलते बुधवार को दुकानें बंद पड़ी हैं। असल में आदेश के हिसाब से दुकानें नहीं खोलने पर मंगलवार को पुलिस ने बाजार में दुकानें बंद कराने की कोशिश की तो नाराज दुकानदारों ने प्रशासन के खिलाफ नारे लगाए। इनकी तरफ से कल ही कर दिए गए ऐलान के मुताबिक बुधवार को दुकानें बंद हैं, वहीं कैबिनेट मंत्री ओम प्रकाश सोनी को शिकायत दी। सोनी ने भरोसा दिया कि गुरुवार को कोई हल निकाल दिया जाएगा। फेडरेशन ऑफ होलसेल क्लोथ मार्केट एसोसिएशन के प्रधान मोती भाटिया ने बताया कि कर्मो ड्योढ़ी, कटरा आहलूवालिया, गुरु बाजार, प्रताप बाजार आदि बाजारों में कपड़े की अलग-अलग वैरायटी की सैकड़ों होलसेल दुकानें है। प्रशासन के हिसाब से कारोबारियों को कोई लाभ नहीं मिल रहा। उन्होंने पूरा बाजार एक साथ खोलने की मांग रखी थी।
पटियाला में ठेके पर काम कर रहे पावरकॉम एंड ट्रांसको के मुलाजिमों ने इन्हें रेगुलर करने और छंटनी बंद किए जाने की मांग को लेकर पावरकॉम मुख्य कार्यालय के आगे धरना दिया। इसमें पंजाबभर के मुलाजिम शामिल हुए। यूनियन के सूबा प्रधान बलिहार सिंह ने बताया कि वह पिछले कई साल से पावरकॉम में ठेके पर काम कर रहे हैं, लेकिन पावरकॉम मैनेजमेंट बनते हक नहीं दे रही। ड्यूटी दौरान घायल हुए मुलाजिमों का इलाज भी नहीं करवाया जा रहा और अब इन मुलाजिमों की ही छंटनी शुरू कर दी गई है। धरने में शामिल सोमवार को करंट लगने से घायल हरदीप सिंह के बारे में बलिहार सिंह ने कहा कि हरजीत अपने परिवार का अकेला कमाने वाला है। उसके अब जख्मी हो जाने से उसका परिवार आर्थिक तंगी का शिकार हो गया है। वैसे यह अकेले हरजीत सिंह की कहानी नहीं है।
लॉकडाउन के बीच जालंधर के मकसूदां स्थित सब्जी मंडी में रिटेल की फड़ियां शुरू करवाने के लिए आढ़तियों ने दिन-रात एक कर दिया। जिला प्रशासन से लेकर नेताओं तक पहुंच बनाने के बाद प्रशासन ने इसकी मंजूरी भी दे दी। अब यही प्रोजेक्ट राजनीति का शिकार होकर रह गया है, क्योंकि दो गुटों में बंटे आढ़ती अब यह फडिय़ां अलग-अलग जगह पर लगाने का जोर लगा रहे हैं। एक गुट फड़ियां पुरानी जगह पर ही दोबारा तो दूसरा गुट इसे मंडी के पीछे पड़ी जगह पर शिफ्ट करने का जोर लगा रहा है। मंडी बोर्ड ने इस विवाद को विराम लगाने के लिए एक जगह निशानदेही भी कर दी है, इसके बावजूद दोनों गुटों में ठनी हुई है। इस राजनीति में आढ़तियों का तो कुछ जा नहीं रहा है, पर छोटे दुकानदारों पर असर पड़ रहा है।
पठानकोट में होटल एवं रेस्टोरेंट्स मालिकों में बिजली निगम के खिलाफ रोष देखने को मिल रहा है। इस मसले पर अपनी बात रखने के लिए होटल एवं रेस्टोरेंट्स एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने मंगलवार देर रात बैठक की। सहमति के बाद पदाधिकारियों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिदर सिंह, सांसद सनी देओल और पठानकोट के विधायक अमित विज को पत्र लिखा है। इसमें कहा गया है कि सरकार ने कोविड-19 के दौरान होटल एवं रेस्टोरेंट्स को तीन माह का बिजली बिल माफ नहीं किया तो वो अपने प्रतिष्ठानों को ताले लगा देंगे और सरकार के खिलाफ सड़कों पर उतर जाएंगे।
लुधियाना जिले के गांव भट्टियां में रहने वाली हिंदू लड़की पूजा की मंगनी लॉकडाउन से पहले गांव साहनेवाल के रहने वाले सुदेश कुमार सोनू के साथ हुई थी। फिर विवाह की तारीख दो जून तय की गई। शादी के लिए खरीदारी भी शुरू कर दी गई। पूजा के माता-पिता उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद जिले में किसी रिश्तेदार के घर गए और फिर लॉकडाउन के कारण फंस गए। पिता ने अपने मुस्लिम दोस्त साजिद को बेटी का ध्यान रखने के लिए कहा। शादी की तारीख नजदीक आई तो वरिंदर शर्मा ने फैसला किया कि वह बेटी की शादी की तारीख आगे नहीं बढ़ाएंगे। उन्होंने अपने दोस्त साजिद से बात की तो साजिद ने कहा कि वह फिक्र न करें, पूजा की शादी की तैयारियां खुद करेंगे। आखिर साजिद व उनकी पत्नी सोनिया ने हिंदू धर्म की सभी रस्में निभाईं और पूजा का कन्यादान करने के बाद उसकी डोली को विदा किया।
गुरदासपुर जिला प्रशासन की तरफ से दीनानगर की श्री ब्राह्मण सभा यूथ विग के पंजाब प्रधान और लोक सेवा समिति के प्रधान डॉ. सोनू शर्मा को कोविड-19 महामारी के दौरान मानवता की सेवा करने के लिए प्रशंसा पत्र देकर सम्मानित किया गया है। उन्हें असिस्टेंट कमिश्नर अमनदीप कौर घुमान ने प्रशंसा पत्र भेंट किया। दरअसल, डॉ. सोनू शर्मा ने राज्य में कर्फ्यू लगने के बाद घर-घर जाकर लोगों को राशन बांटना शुरू किया। मास्क, सैनिटाइजर भी वितरित किए गए। सरकारी कार्यालयों में स्टाफ को और पुलिस मुलाजिमों को मास्क और सैनिटाइजर भेंट किए।

Source BHASKAR

%d bloggers like this: