अब अधिकारी नहीं मरीज और तीमारदार बताएंगे स्वास्थ्य सेवाओं की हकीकत, जहां गड़बड़ी मिली जाएगी नौकरी

  • हेल्थ विभाग सूबे के सभी सरकारी अस्पतालों, डिस्पेंसरियों, पीएचसी और सीएचसी का कराएगा सोशल ऑडिट
  • प्रदेश की बदतर स्वास्थ्य सेवाओं को लेकर घेरने वाले विपक्ष का मुंह बंद करना चाहती है सरकार

दैनिक भास्कर

Jun 04, 2020, 07:18 AM IST

चंडीगढ़. पंजाब में सरकारी अस्पतालों की हालत कैसी है, ये जानने के लिए हेल्थ विभाग पहली बार सोशल ऑडिट कराने जा रहा है। इसमें विभाग अपने अधिकारियों और कर्मचारियों की बजाय अस्पताल आने वाले मरीजाें और उनके तीमारदारों से स्वास्थ्य सेवाओं का हाल जानेंगे। और जिन अस्पतालों में कमियां पाई गईं वहां उन्हें दुरुस्त करने के साथ अधिकारियों और कर्मचारियों की नौकरी जा सकती है।

दरअसल, सरकारी अस्पतालों में क्या दिक्कतें हैं इसकी अफसरों को जानकारी तभी मिलती है जब कोई शिकायत करता है। अब विभाग चाहता कि शिकायत से पहले ही कमियां दूर हो जाएं।

विभाग अस्पतालों का करना चाहता है आधुनिकरण

सूबे का स्वास्थ्य विभाग अपने अस्पतालों का आधुनिकरण करना चाहता है। इसके लिए विभाग ने सभी जिलों के सिविल सर्जनों से उनके अस्पतालों को आधुनिकीकरण करने के लिए जरूरी साजो सामान की लिस्ट मांगी है। लेकिन विभाग के अधिकारी यह भी  पता लगाना चाहते हैं कि जमीनी स्तर पर स्वास्थ्य सेवाओं में किस प्रकार के सुधार की जरूरत है।

हर जिले में बनेगी टीम, लोगों से पूछेगी क्या सुविधाएं चाहिए आपको

सोशल आडिट के लिए हर जिले में एक टीम बनाई जाएगी। ये टीम अस्पतालों में आने वाले लोगों से पूछेगी कि अस्पताल में क्या ठीक होना चाहिए और आपको और किन-किन सुविधाओं की जरूरत है। 

सोशल ऑडिट पूरा होने के बाद अस्पतालों को किया जाएगा हाईटेक

आडिट के बाद अस्पतालों में जरूरी बदलाव होंगे। जिस मशीनरी की जरूरत होगी मुहैया कराई जाएगी। ताकि लोगों को अस्पतालों में इलाज के दौरान किसी प्रकार की कोई दिक्कत नहीं आए।

3 साल में कितनी सुधरी स्वास्थ्य सेवाएं…ये आएगा सामने

इस सोशल आडिट का सबसे बड़ा फायदा सरकार को यह होगा कि खुद सरकार और स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को इस बात का पता चल जाएगा कि सूबे में कांग्रेस की सरकार बनने के बाद अस्पतालों की दशा में कितना सुधार हुआ है। विभाग इन आंकड़ों के आधार पर विपक्ष एवं सूबे के लोगों को बता सकेगा कि सूबे में कांग्रेस की सरकार ने स्वास्थ्य सेवाओं में कितना सुधार किया है।

अधिकारियों पर होगी कार्रवाई

विभाग सूबे के सभी सरकारी अस्पतालों का सोशल आडिट कराएगा। इससे सूबे की स्वास्थ्य सेवाओं को सुधारने में सरकार को मदद मिलेगी। जिन अधिकारियों या कर्मचारियों की अपने काम को लेकर कमियां पाई जाएंगी उनके खिलाफ विभाग कार्रवाई करेगा।
– बलबीर सिंह सिद्धू, स्वास्थ्य मंत्री पंजाब

Source BHASKAR

%d bloggers like this: